January 24, 2022 3:50 pm
featured जम्मू - कश्मीर

जम्मू के क़्वारन्टीन सेंटर से भागे 500  लोग ,

dehradun 1 जम्मू के क़्वारन्टीन सेंटर से भागे 500  लोग ,

जम्मू के जिला साम्बा में प्रशासन द्वारा ठंडी खुई इलाके में बनाये गए क़्वारन्टीन सेंटर से पिछले कुछ दिनों में काफी तादाद में लोग वहां से भाग निकले हैं।

जम्मू से रवि कुमार की रिपोर्ट 

जम्मू , जम्मू के जिला साम्बा में प्रशासन द्वारा ठंडी खुई इलाके में बनाये गए क़्वारन्टीन सेंटर से पिछले कुछ दिनों में काफी तादाद में लोग वहां से भाग निकले हैं। कहा जा रहा है की कोरोना टेस्ट के लिए सैम्पलिंग में देरी और सेंटर में खाने और बाकी चीज़ों की अच्छी व्यवस्था न होने के चलते ये लोग यहाँ से भाग निकले हैं।

आपको बता दें की जम्मू कश्मीर प्रशासन ने बाहर से आने वाले हर व्यक्ति के लिए कोरोना टेस्ट अनिवार्य किया है और लखनपुर से आने वाले हर व्यक्ति को साम्बा के ठंडी खुई क़्वारन्टीन सेंटर में रखा जाता है जब तक की उसके टेस्ट की रिपोर्ट न आ जाये। इसी सेंटर में प्रशासन ने सैंपल कलेक्शन पॉइंट भी बनाया है जहाँ से इस सेंटर में भेजे जाने वाले हर उस व्यक्ति का सैम्पल लिया जाता है जो जम्मू कश्मीर में बाहरी राज्यों से आ रहा हो।

जानकारी के मुताबिक़ इस वक्त सेंटर में मौजूद लोगों में ज़्यादातर प्रवासी मज़दूर हैं जो धान की बुगाई के लिए जम्मू पहुँचते हैं और प्रशासन के आदेशों के चलते इन लोगों के भी टेस्ट होने हैं आउट रिपोर्ट आने तक इसी क़्वारन्टीन सेंटर में रहना है।

https://www.bharatkhabar.com/atmosphere-ringing-like-a-bell-shocked-scientist/

यह लोग प्रशासन पर सेंटर में अच्छी व्यवस्था न कर पाने का आरोप लगा रहे हैं। इनका आरोप है की कई दिन सेंटर में रहने के बावजूद भी उनका सैम्पल नहीं लिया जा रहा जिसके चलते उन्हें सेंटर में बेवजह ज़्यादा दिनों तक रहना पद रहा है। उन्होंने कहा की अगर प्रशासन सही तरीके से काम करे तो ऐसी नौबत नहीं आएगी पर अभी हालात ऐसे हैं की बच्चों और महिलाओं को भी इसी वजह से सेंटर में ज़्यादा दिन बिताने पड़ रहे हैं।

वहीँ लोगों का आरोप है की सेंटर में खाने की व्यवस्था भी ठीक नहीं है। जब तक राधा स्वामी सत्संग की तरफ से खाने का बंदोबस्त था तब तक सब कुछ ठीक था और लोगों को समय पर तीनो वक्त का खाना मिल रहा था लेकिंग जबसे प्रशासन ने ये ज़िम्मेदारी संभाली है तब से खाना कभी समय पर नहीं पहुँच पा रहा।

इस पूरी घटना पर भारत खबर से बात करते हुए तहसीलदार रामगढ़ और इंचार्ज ठंडी खुई क़्वारन्टीन सेंटर के पी सिंह ने बताया की कुछ लोगों के सेंटर से भागने की जानकारी उन्हें मिली है जिसपर तफ्तीश की जा रही है और अगर ऐसा कुछ पाया जाता है तो उन लोगों के खिलाफ अवश्य कार्रवाई की जाएगी। सेंटर में लोगों द्वारा खाने की अच्छी व्यवस्था न होने के आरोप  पर उन्होंने कहा की ऐसा बिकुल भी नहीं है और प्रशासन की तरफ से लोगों को अच्छा खाना मुहैय्या करवाया जा रहा है. खाने देरी से पहुंचाने के सवाल पर के पी सिंह ने कहा क्यूंकि इस वक्त ज़्यादातर प्रवासी मज़दूर सेंटर में मौजूद हैं और वो हमेशा खाने बंटने के समय लूट मचा देते हैं जिसकी वजह से कई बार खाने देरी से बाँटा जाता है।

इससे पहले सेंटर में रह रहे लोगों द्वारा गुरूवार को प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन भी किया गया जहाँ गुस्साए लोगों ने सेंटर में काफी तोड़फोड़ भी की। लोग इस बात से गुस्सा थे की प्रशासन उनके सैम्पल लेने में बेवजह देरी कर रहा है जिसकी वजह से वो जल्दी यहाँ से बाहर नहीं निकल सकते। घटना की जानकारी मिलते ही साम्बा जिला आयुक्त रोहित खजुरिया भी सेंटर में पहुंचे और लोगों को समझा कर शांत किया।

आपको बता दें कि राधा स्वामी सत्संग ब्यास ने इस कोरोना महामारी में पहल करते हुए अपना सेंटर जो कि विजयपुर के ठंडी खुई इलाके में स्थित है उसे प्रशासन को कोरोना से लड़ने के लिए उपयोग करने के लिए दिया था। जिसके बाद यहाँ जम्मू कश्मीर का सबसे बड़ा क़्वारन्टीन सेंटर तैयार किया गया था और बाहर से आने वाले हर शख्स को यहाँ 14 दिनों के लिए रखा गया। यहाँ पर रह रहे तमाम लोग जिनमे ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी भी शामिल हैं सबको तीन वक्त का खाना राधा स्वामी सत्संग ब्यास ही मुहैय्या करवा रहा था। अब पिछले कुछ दिनों से प्रशासन ने खाने कि ज़िम्मेदारी संभाली है जिसके बाद से लगातार यहाँ लोग प्रशासन पर अच्छे खाने की व्यवस्था और सैम्पलिंग में देरी करने का आरोप लगा रहे हैं।

Related posts

कोरोना की विकट स्थिति पर SC सख्त, केंद्र से ऑक्सीजन-दवाइयों पर मांगा प्लान

pratiyush chaubey

मतदान में ना हो गड़बड़ी इसलिए EC खरीदेगा 16 लाख वीवीपीएटी मशीन

kumari ashu

फतेहपुर में 13 साल के छात्र से हैवानियत, पुलिस ने आरोपियों को ऐसे दबोचा

Shailendra Singh