September 30, 2022 2:57 am
featured जम्मू - कश्मीर

एलजी के समक्ष रखी जम्मू राज्य की मांग कई संगठनों ने की मुलाकात..

manoj 1 2 एलजी के समक्ष रखी जम्मू राज्य की मांग कई संगठनों ने की मुलाकात..

राजेश विद्यार्थी की रिपोर्ट

जम्मू। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से शनिवार को भी कई संगठनों ने मुलाकात करके जम्मू को अलग राज्य बनाने की‌ मांग की।
उपराज्यपाल से मुलाकात करने वाले छोटे राजनीतिक दलों के नेता शामिल थे।

manoj 2 एलजी के समक्ष रखी जम्मू राज्य की मांग कई संगठनों ने की मुलाकात..
पूर्व मंत्री चौधरी लाल सिंह ने डोगरा स्वाभिमान संगठन के प्रतिनिधि मंडल के साथ मुलाकात मे बेरोजगारी की समस्या उठाई। पीएचई और बिजली विभाग के दिहाड़ीदारों को नियमित करने का मुद्दा उठाया गया। बताया गया कि दिहाड़ीदार पिछले १४_१५ सालों से नियमित नहीं किए गए हैं। उन्हें नियमित किया जाए। इंजीनियरों के सेल्फ हेल्प ग्रृप को बहाल किया जाए।

जम्मू पिछले ७० साल से कश्मीर के हुक्मरानों के भेदभाव का शिकार हैं। जम्मू को अलग राज्य का दर्जा दिया जाए। जम्मू के लोगों के स्टेट सब्जेक्ट को सम्मान दिया जाए। जम्मू से खनन और उत्खनन की कड़ी निगरानी की जाए। पर्यटन स्थलों का विकास हो। औधौगिक गतिविधियों को बढ़ावा देकर रोजगार बढ़ाने की तरफ़ कदम बढ़ाया जाए। बिजली के प्राइवेटाइजेशन का विरोध जताया गया। चौधरी लाल सिंह के साथ पूर्व आईजी डाक्टर कमल सैनी, डाक्टर हरी दंत शिशू, पूर्व मंत्री कांता अडोतरा वह अन्य कई लोग शामिल ने।

https://www.bharatkhabar.com/private-spacecraft-company-used-it-own-rocket/
मनोज सिन्हा को एलजी बनाने का स्वागत
जम्मू। एलजी मनोज सिन्हा से मुलाकात करने पहुंचे संगठनों ने राजभवन में उनका स्वागत किया और बधाई दी। डोगरा स्वाभिमान संगठन, पीओजेके संगठन, एसओएस, जम्मू वेस्ट एसेंबली मूवमेंट सहित अन्य कई संगठनों के प्रतिनिधि राजभवन में। मौजूद थे।१७,५०० वर्कर किए नियमितजम्मू। उपराज्यपाल ने कई प्रतिनिधि मंडलों से मुलाकात करने के बाद तुरंत कार्रवाई की और १७,५०० डेली रेटेड वर्करों को नियमित करने के आदेश जारी किए। वित्त आयुक्त ने आदेश जारी कर दिहाड़ीदार मजदूरों को राहत प्रदान की। एसआरओ आफ १९८५ के तहत इन्हें नियमित किया गया है।

Related posts

Falgun Amavasya: फाल्गुन अमावस्या आज, गलती से ना करें ये काम, नहीं तो झेलना पड़ सकता है पितृ दोष

Neetu Rajbhar

लालू की सजा पर गरमाई राजनीति -कहा निर्दोष तो कोई बोले पाप

mohini kushwaha

वाजपेयी रहते तो बीजेपी शायद इतनी जनविरोधी, अहंकारी पार्टी नही होती-मायावती

rituraj