featured देश राज्य

महाराष्ट्रःडॉक्टर नरेंद्र दाभोलकर की हत्या में जांच एजेंसियों ने दो लोगों को गिरफ्तार किया

दाभोलकर महाराष्ट्रःडॉक्टर नरेंद्र दाभोलकर की हत्या में जांच एजेंसियों ने दो लोगों को गिरफ्तार किया

माहाराष्ट्रःडॉक्टर नरेंद्र दाभोलकर की हत्या के पांच साल पूरे होने में दो दिन शेष थे कि जांच एजेंसियों ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया।आपको बता दें कि डॉक्टर नरेंद्र दाभोलकर माहाराष्ट्र के समाजिक कार्यकर्ता थे,जिनकी हत्या पांच साल पहले संदिग्ध परिस्थियों में हुई थी।गौरतलब है कि जांच एजेंसियों ने दावा किया है कि गिर्फ्तार किए गए लोगों ने दाभोलकर की हत्या किए जाने की बात को स्वीकार कर लिया है।

 

दाभोलकर महाराष्ट्रःडॉक्टर नरेंद्र दाभोलकर की हत्या में जांच एजेंसियों ने दो लोगों को गिरफ्तार किया
महाराष्ट्रःडॉक्टर नरेंद्र दाभोलकर की हत्या में जांच एजेंसियों ने दो लोगों को गिरफ्तार किया

 

जानिए कौन था जॉन पी सांडर्स और किसने रची थी उसके हत्या की साजिश !

वहीं सीबीआई की ओर से जारी बयान में कहा गया है, “दाभोलकर की हत्या के सिलसिले में सीबीआई ने औरंगाबाद से सचिन प्रकाश दुंधरी को गिरफ़्तार कर लिया। संदेह है कि वो दाभोलकर पर गोली चलाने वाले लोगों में से एक है! अभी जांच चल रही है।”जांच एजेंसियों ने जिस दूसरे शख़्स को गिरफ़्तार किया है, उसके बारे में अभी जानकारी सामने नहीं आई ह।

पीट-पीटकर हुई हत्या के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने भेजा योगी सरकार को नोटिस

गिरफ़्तार किए गए लोगों को रविवार को अदालत में पेश किया जाएगा

सीबीआई के अनुसार गिरफ़्तार किए गए लोगों को रविवार को अदालत में पेश किया जाएगा।इस गिरफ़्तारी से पहले महाराष्ट्र पुलिस के आतंकवाद निरोधी दस्ते ‘एटीएस’ ने वैभव राउत, शरद कलास्कर और सुधना गोंडलेकर को गिरफ़्तार करके महाराष्ट्र में हिंदुत्ववादी कार्यकर्ताओं के हमले की योजना को बेनक़ाब करने का दावा किया था।एटीएस की  माने तो इन तीनों से पूछताछ के दौरान ही एक संदिग्ध ने दाभोलकर की हत्या में शामिल होने की बात स्वीकार की थी। इसके बाद एटीएस ने यह जानकारी दाभोलकर हत्याकांड की जांच कर रही सीबीआई की टीम को दी है।इसके बाद सीबीआई ने सचिन प्रकाश दुंधरी और एक अन्य शख़्स को गिरफ़्तार कर लिया है।

 सामाजिक कार्यकर्ता नरेंद्र दाभोलकर की 20 अगस्त 2013 को पुणे में गोली मारकर हत्या की गयी थी

आपको बता दें कि अंधविश्वास के खिलाफ अभियान चलाने वाले सामाजिक कार्यकर्ता नरेंद्र दाभोलकर की 20 अगस्त 2013 को पुणे में गोली मारकर हत्या की गयी थी। इस हत्याकांड की जांच मुंबई हाईकोर्ट ने मई, 2014 में सीबीआई को सौंपी है।मालूम हो कि इससे पहले सीबीआई ने सितंबर, 2016 को पनवेल में हिंदू जनजागृति समिति आश्रम से वीरेंद्र तावड़े को गिरफ़्तार किया था। सीबीआई ने ये बताया था कि सनातन संस्था के कार्यकर्ता सारंग अकोलकर और विनय पवार ने दाभोलकर को गोली मारी थी। ये दोनों अभी तक फरार हैं। सीबीआई की ओर से ये भी कहा गया था कि सांरग और विनय ने वीरेंद्र तावड़े की बाइक भी प्रयोग की थी। महाराष्ट्र एटीएस का कहना है कि हिंदुत्ववादी कार्यकर्ता महाराष्ट्र में हमले करने वाले थे।

महेश कुमार यदुवंशी 

Related posts

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को यादगार बनाने में जुटी दून सिटी और प्रशासन

piyush shukla

चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने क्या कहा?

Breaking News

सीएम रावत मंत्रिमण्डल के सदस्यों, विधायकों और अधिकारियों के साथ सड़क मार्ग से गैरसेण पहुंचे

Rani Naqvi