प्रयागराज यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने एक साथ की संयुक्त बैठक, जानिए क्या हैं निहितार्थ

लखनऊ: योगी सरकार संगम नगरी प्रयागराज में उद्योग लगाने के लिए संकल्पबद्ध है। इसी कड़ी में कैबिनेट मंत्री सतीश महाना और सिद्धार्थ नाथ सिंह ने प्रयागराज में औद्योगीकरण को बढ़ावा देने के लिए संयुक्त बैठक की है। इस बैठक में प्रयागराज की बीजेपी सांसद डॉक्टर रीता बहुगुणा भी मौजूद रहीं।

प्रयागराज की सांसद रहीं मौजूद

इस मामले में कैबिनेट मंत्री और बीजेपी के मीडिया प्रभारी दिनेश तिवारी ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की और बताया कि प्रयागराज के औद्योगिक विकास के लिए सरकार संकल्पबद्ध है।

इसी कड़ी में औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना और सूक्ष्म, लघु और मध्यम मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने विधानभवन सभागार, लखनऊ में एक बैठक की।

इस बैठक में प्रयागराज की सांसद रीता बहुगुणा जोशी के अतिरिक्त अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास अरविंद कुमार और प्रयागराज के उद्योगपति मौजूद रहे।

‘जिले के विकास पर सरकार गंभीर’

बैठक में अधिकारियों को संबोधित करते हुए कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने कहा कि प्रयागराज में औद्योगीकरण को बढ़ावा देने के लिए विशेष कार्ययोजना पर काम किया जा रहा है।

इसके तहत इस योजना पर काम किया जा रहा है कि औद्योगिक क्षेत्र में उद्योगपतियों से लिए जा रहे मेंटनेंस चार्ज को उसी इलाके के विकास में खर्च किया जाए।

इससे औद्योगिक क्षेत्र में उद्यमियों को अच्छी गुणवत्ता की मूलभूत सुविधाएं प्राप्त होंगी। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त टैक्स से संबंधित उद्यमियों की जो भी समस्याएं हैं उनका त्वरित गति से निदान किया जाए।

‘रद्द होगा प्लॉट आवंटन’

इसके साथ ही नोटिफिकेशन जारी होने के एक साल के अंदर जो उद्योगपति उद्योग न स्थापित करे उसके प्लाट का आवंटन रद्द कर दिया जाए।

श्री महाना ने कहा कि योगी सरकार की प्राथमिकता है कि यूपी में अधिक से अधिक उद्योग लगें जिससे ज्यादा से ज्यादा रोजगार के अवसर सृजित हों।

इसके लिए 2017 में सरकार में आने के बाद से ही योगी सरकार ने विशेष प्रबंध किए हैं। इसके तहत आवश्यकता के अनुसार लगातार विभिन्न नियमों को बदला जा रहा है।

मिले मूलभूत सुविधाएं: मंत्री

वहीं बैठक में अधिकारियों को निर्देश जारी करते हुए कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि नैनी इंडस्ट्रियल एरिया में मूलभूत सुविधाएं बढ़ाई जाएं। उन्होंने कहा कि इसके तहत बिजली, पानी, सड़क आदि मूलभूत सुविधाओं को और ज्यादा सुदृढ़ किया जाए।

संबंधित विभाग के अधिकारी प्रयागराज में कैंप लगाएं और उद्योगपतियों की समस्याओं का त्वरित निराकरण करें। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि जिले में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए इंटीग्रेटेड कॉरिडोर बनाया जा रहा है। वहीं उद्यमियों की सुविधा के लिए नैनी इंडस्ट्रीज एरिया में टेस्टिंग लैब स्थापित करने की योजना पर भी काम किया जा रहा है।

‘बंद इकाइयां होंगी शुरू’

इसके साथी ही बंद पड़ा इकाइयों को फिर से शुरू करने का भी प्रयास किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त सिद्धार्थनाथ सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि इंवेस्ट यूपी कार्यक्रम के तहत उद्योगपतियों को आकृषित करने का भी प्रयास किया जाए। इस दौरान बैठक में बड़ी संख्या में अधिकारी मौजूद रहे। वहीं कुछ अधिकारी वर्चुअल माध्यमों से दोनों मंत्रियों के निर्देश सुनते रहे।

 

 

प्रतापगढ़ में भाजपा विधायक का हंगामा, जमीन पर लेटकर SP पर लगाए गंभीर आरोप

Previous article

UP: भाजपा से त्‍यागपत्र, अब रालोद में शामिल होंगी डॉ. प्रियंवदा तोमर!

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured