featured यूपी

स्वास्थ्य विभाग की खुली पोल, सीएमएस हेल्पलाइन की युवती ने कोरोना पीड़ित बीजेपी कार्यकर्ता से कहा- मर जाओ…

Lucknow: स्वास्थ्य विभाग की व्यवस्थाओं की खुली पोल, कोरोना पीड़ित बीजेपी कार्यकर्ता से ही कह दिया, मर जाओ...

लखनऊ: यूपी में एक तरफ कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है, मरीज दहशत में नजर आ रहे हैं, वहीं स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कर्मचारियों से अमानवीय तरीके से बातचीत का मामला सामने आ रहा है। मामला सत्ताधारी पार्टी बीजेपी से जुड़े एक कार्यकर्ता का बताया जा रहा है।

10 अप्रैल को करवाई थी कोरोना की जांच 

राजधानी लखनऊ के फैजुल्लागंज वार्ड से बीजेपी कार्यकर्ता ने बातचीत में बताया कि उन्होंने दस अप्रैल को कोरोना के लक्षण मिलने पर पूरे परिवार के साथ कोरोना की जांच करवाई थी।

Lucknow: स्वास्थ्य विभाग की व्यवस्थाओं की खुली पोल, कोरोना पीड़ित बीजेपी कार्यकर्ता से ही कह दिया, मर जाओ...

इसके बाद जांच की रिपोर्ट 12 अप्रैल को मिली जिसमें जांच की रिपोर्ट में पूरा परिवार कोरोना पॉजिटिव पाया गया। इसके बाद हम सभी लोगों ने सावधानी बरतते हुए पूरे परिवार सहित अपने आपको होम आइसोलेट कर लिया।

15 अप्रैल को स्वास्थ्य विभाग की तरफ से आई कॉल

इसके बाद 15 अप्रैल को स्वास्थ्य विभाग के कमांड आफिस से हमारे फोन नंबर पर एक कॉल आई जिसमें कोई युवती बात कर रही थी। उसने बताया कि वो सीएमएस लाइन से बात कर रही है। इसके बाद उसने कहा आप सुन पा रहे हैं। तो बीजेपी कार्यकर्ता ने कहा कि हां वो उसकी बात सुन पा रहे हैं। इसके बाद युवती ने कहा कि उसकी जानकारी के हिसाब से आप लोग होम आइसोलेशन में हैं।

सीएमएस हेल्पलाइन की युवती ने की अभद्रता 

इस पर बीजेपी कार्यकर्ता ने कहा कि हां, वो लोग होम आइसोलेशन में हैं। इसके बाद बातचीत का दौर आगे चला और सीएमएस लाइन से बात कर रही युवती ने बीजेपी कार्यकर्ता से पूछा कि आपकी तरफ से होम आइसोलेशन की तरफ से सारी जानकारी भरी जा रही है।

बीजेपी कार्यकर्ता से कहा- मर जाओ…

इस पर बीजेपी कार्यकर्ता ने कहा कि अभी तक उन्हें इस एप की कोई जानकारी नहीं दी गई है। न ही किसी डॉक्टर ने ही अब तक कोई संपर्क किया है। उसके बाद उधर से बात कर रही युवती ने पीड़ित बीजेपी कार्यकर्ता से कहा कि जाओ जाकर मर जाओ। इसके साथ ही उसने दूसरी अभद्र भाषा भी प्रयोग की।

पीड़ित ने सीएम योगी को लिखा पत्र

बीजेपी कार्यकर्ता ने बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। हालांकि अभी भेजने की प्रक्रिया जारी है। वहीं पत्र की और फोन की रिकार्डिंग उन्होंने जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश को भी भेज दी है।

उन्होंने कहा कि एक तरफ कोरोना से लोग इतने खौफजदा हैं वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के द्वारा इस तरीके से बात की जा रही है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को योगी सरकार का भी कोई भय नहीं है। बीजेपी कार्यकर्ता ने कहा कि उस युवती की बात सुनकर पूरा परिवार काफी आहत हुआ है। और हम लोग दोषी पर कार्रवाई की मांग करते हैं।

Related posts

हरदोई के सरकारी दफ्तर बने मयखाने, स्वास्थ्य विभाग की दारू पार्टी कैमरे में कैद

Rani Naqvi

Indian Army Day 2022: देशभर में मनाया गया ‘सेना दिवस’, राजधानी में गूंजी आर्मी की गाैरव गाथा

Rahul

दैनिक राशिफल: जानिए कैसे करें दिन की बेहतर शुरुआत

Aditya Mishra