Lucknow: जिलाधिकारी ने कोविड कमांड सेंटर का किया औचक निरीक्षण, जानिए क्या दिया निर्देश

लखनऊ: कोविड-19 की तैयारियों को परखने के लिए जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने मंगलवार को इंटीग्रेटेड कोविड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर का दौरा किया।

इस दौरान उन्होंने यहां की व्यवस्थाओं को परखा। डीएम अभिषेक प्रकाश ने कोविड कंट्रोल एंड कमांड का भौतिक सत्यापन किया।

कमांड सेंटर हुआ एक्टिव

जिलाधिकारी ने सर्विलांस के अलावा आरआरटी टीम, एंबुलेंस आवंटन हास्पिटल आवंटन, वैक्सीनेशन आदि जो भी काम कमांड सेंटर में किए जा रहे हैं उसका निरीक्षण किया। डीएम के दौरे के दौरान कमांड सेंटर में अफरातफरी का माहौल रहा।

मामले की जानकारी देते हुए जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बताया कि कमांड सेंटर को पहले की ही तरह से एक बार फिर से 24 घंटे के लिए कार्यरत कर दिया गया है। डीएम ने बताया कि कमाण्ड सेंटर के माध्यम से शत्-प्रतिशत् कांटेक्ट ट्रेसिंग व टेस्टिंग का काम किया जा रहा है।

बनाई गई डॉक्टरों की टीम

जिलाधिकारी ने बताया कि कोरोना को रोकने के लिए डॉक्टरों की टीम बना दी गई है। डॉक्टरों की टीम मरीजों को एंबुलेंस और अस्पताल का आवंटन कर रही है।

उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त कमांड सेंटर के माध्यम से होम आइसोलेशन वाले मरीजों को कॉल करके उनका हालचाल, ऑक्सीजन लेवल और टेम्प्रेचर की भी जानकारी ली जा रही है। वहीं कमांड सेंटर के माध्यम से वैक्सीनेशन का भी डेटा लिया जा रहा है।

कमांड सेंटर की सभी व्यवस्थाओं के लिए मुख्य विकास अधिकारी को नोडल अधिकरी के रूप में नामित किया गया है।

क्या है कोविड कमांड सेंटर

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस के कहर को रोकने के लिए विभिन्न जिलों में इंटीग्रेडेट कोविड कमांड सेंटर की स्थापना करवाई है।

इस कमांड सेंटर में जिलों के 10 से 11 अधिकारी काम करते हैं। प्रभारी अधिकारी कंट्रोल रूप में हर सूचना का आदान-प्रदान करते रहते हैं, जिससे कि कोरोना से सुड़ी हर सूचना को तेज गति से पहुंचाया जा सके। ये इंटीग्रेटेड सेंटर 24 घंटे एक्टिव रहते हैं।

प्रयागराज में धूमधाम से मनाई गई महाराजा निषादराज गुहा जयंती

Previous article

मुंबई में IPL के मैचों को हरी झंडी, दर्शकों को नहीं मिलेगी इजाजत

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured