featured धर्म

महाभारत में भगवान कृष्ण चाहकर भी वीर अभिमन्यु को क्यों नहीं बचा पाए, कारण जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे..

abhi 2 महाभारत में भगवान कृष्ण चाहकर भी वीर अभिमन्यु को क्यों नहीं बचा पाए, कारण जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे..

महाभारत का नाम सुनते ही काफी लोगों को वो खून से लतपथ कुरूक्षेत्र याद आ जाता है । जहां अपनों ने ही अपनों को मौत के घाट उतारा था।

abhi 1 महाभारत में भगवान कृष्ण चाहकर भी वीर अभिमन्यु को क्यों नहीं बचा पाए, कारण जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे..
महाभारत को वैसे तो धर्म युद्ध कहा जाता है। लेकिन महाभारत पूर्ण रूप से धर्मयुद्ध न होकर कर्मयुद्ध भी थी। यही कारण है कि महाभारत को लेकर अभी भी काफी रहस्य हैं, कई सवाल हैं जिनके बारे में लोग जानना चाहते हैं।

उन्हीं में से एक रहस्य है कि, भगवान कृष्ण ने ईश्वर होते हुए भी अर्जुर्न के हौनहार पुत्र अभिमन्यु को क्यों बचाया?

अभिमन्यु हर व्यक्ति के लिए एक प्रेरणा है, इस योद्धा ने महाभारत के युद्ध में अकेले एक पूरे दिन उन सभी योद्धाओं को रोक कर रखा था, जो अकेले कई सेना के बराबर थे। और यही कारण है कि, युद्ध पर लड़ते-लड़ते वीर गति को प्राप्त हो गये । भगवान कृष्ण ये सब खड़े होकर देखते रहे।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि धर्म की रक्षा के लिए भगवान विष्णु अवतार लेते हैं एवं उनकी सहायता के लिए दूसरे देवतागण भी विभिन्न स्थानों पर जन्म लेते हैं, द्वापर युग में जब भगवान विष्णु ने भगवान श्रीकृष्ण का अवतार लिया तब ब्रह्मा जी के आदेश से देवताओं ने भी विभिन्न जगह जन्म लिया ताकि धर्म स्थापना में वह भगवान श्री कृष्ण के सहायक बन सके।

भिमन्यु के रूप में चंद्रमा के पुत्र वर्चा ने जन्म लिया था, वर्चा को भेजते समय चंद्रमा ने देवताओं से कहा, मैं अपने प्राणों से प्यारे पुत्र को नहीं दे सकता परंतु इस काम से पीछे हटना भी उचित नहीं जान पड़ता, इसलिए वर्चा मनुष्य तो बनेगा परंतु अधिक दिनों तक नहीं रहेगा, भगवान इंद्र के अंश नरावतार होगा, जो भगवान श्रीकृष्ण से मित्रता करेगा अर्थात अर्जुन, मेरा पुत्र अर्जुन का ही पुत्र होगा।

और भगवान कृष्ण के सामने मेरा पुत्र चक्रव्यूह का भेदन करेगा और घमासान युद्ध करते हुए बड़े-बड़े महारथियों को भी चकित कर देगा परंतु दिनभर युद्ध करने के पश्चात सायः काल में वह मुझसे मिलेगा।

यही कारण है कि वीर अभिमन्यु महाभारत का करते-करते वीर गति को प्राप्त हो गये। और श्री कृष्ण चाहकर भी कुछ नहीं पाए।

चंद्रमा के इसी शर्त के आगे सभी देवता विवश हुये और फिर चंद्रमा के पुत्र वर्चा ने महारथी अभिमन्यु के रूप में जन्म लिया और फिर वो महाभारत के चक्रव्यूह में अपना पराक्रम दिखाते हुये अल्पायु में वीरगति को प्राप्त हुये, इस कारण ही श्री कृष्ण ने अभिमन्यु को नहीं बचाया था|

तो आपको भी आपके इस सावल का पता चल गया होगा। महाभारत होने से पहले कृष्ण को सबकुछ पता था। वो सब जानते थे कि, इस युद्ध को क्यों किया जा रहा है।

https://www.bharatkhabar.com/waring-claims-to-have-found-an-alien-craft/
यही कारण है कि, उन्होंने पांडवों का साथ देकर महाभारत का युद्ध जीत वाया।

Related posts

पीएम मोदी दो दिवसीय दौरे पर भारत के पुराने दोस्त रूस से करेंगे सामरिक और व्यापारिक रिश्तों को मजबूत

Rani Naqvi

पत्थरबाजों की मौत से घाटी में शांति की पहल को लगा झटका

piyush shukla

अनुसूचित वर्ग को साधने की तैयारी में भाजपा, आज से शुरू करेंगी सामाजिक संवाद कार्यक्रम

Neetu Rajbhar