चेन्नई की तर्ज पर भोपाल में भी बनेगा इंटरनेशनल आर्ट म्यूजियम, पेंटर श्रीथर देंगे थ्रीडी आकार

चेन्नई की तर्ज पर अब भोपाल में भी इंटरनेशनल आर्ट म्यूजियम बनने जा रहा है, जिसको थ्रीडी आकार दिया जाएगा। जिसे लेकर मध्यप्रदेश सरकार ने मशहूर पेंटर श्रीथर से बात की है। इसके बाद 22 मई को मध्यप्रदेश के पर्यटन और संस्कृति मंत्रालय को श्रीथर ने भोपाल इंटरनेशनल आर्ट म्यूजियम का प्रजेंटेशन भी दिया। श्रीथर अब मध्यप्रदेश सरकार को प्रस्ताव भेजेंगे । प्रस्ताव में भोपाल में बनने वाले इंटरनेशनल आर्ट म्यूजियम के बारे में विस्तार से जानरकारी देंगे। सरकार प्रोजेक्ट भोपाल इंटरनेशनल आर्ट म्यूजियम को मूर्त रूप देने के लिए तैयार है। श्रीथर पहले थ्रीडी पेंटर हैं। जिन्होंने चेन्नई मे पहला थ्रीडी म्यूजिम बनाया था।

 

 

श्रीथर द्वारा चेन्नई में निर्मित आर्ट म्यूजियम के अब तक 40 लाख से ज्याद फोटो लिए गए हैं। इसकी लोकप्रियता को विश्व स्तर लोकप्रियता माना जा रहा है। और इसके बाद उन्होंने रामेश्वरम मे कलाम के जीवंत चित्र भी बनाए और अब श्रीथर सिंगापुर में मनोलिसा म्यूजियम बनाने जा रहे है। एपीजे अब्दुल कलाम के संग्रहालय को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि श्रीथर एक बहुत बड़े थ्रीडी पेंटर हैं ।

मध्यप्रदेश का असीरगढ़ किला-रहस्यों से भरा

श्रीथर ने लंदन के मैडम तुसाद म्यूजियम के बराबरी का म्यूजियम दिया है। जिस तरह मैडम तुसाद म्यूजियम मोम की मूर्तियों के लिए प्रसिद्ध है उसी तरह सिलकॉन की मूर्तियां श्रीथर भी बनाते हैं। इसका जीता जागता उदाहरण रामेश्वरम में पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की जीवंत प्रतिमाएं है। भोपाल में बनने वाला इंटरनेशनल आर्ट म्यूजियम 5 करोड़ की लागत से बनेगा। इसका निर्माण 12 हजार वर्गफीट में होगा। सरकार इसको चुनाव से पहले आकार देने की कोशिश कर रही है। सरकार का दावा है कि इसकी लोकप्रियता शोर्य स्मारक की तरह होगी।