January 25, 2022 1:54 pm
featured लाइफस्टाइल

कुदरत की एक अद्भुत देन है “नाभी”, जानिए किन शारीरिक समस्याओं को दूर करने में है सहायक

नाभी कुदरत की एक अद्भुत देन है “नाभी”, जानिए किन शारीरिक समस्याओं को दूर करने में है सहायक

एक 62 वर्ष के बुजुर्ग को अचानक बांई आँख  से कम दिखना शुरू हो गया। खासकर  रात को नजर न के बराबर होने लगी।जाँच करने से यह निष्कर्ष निकला कि उनकी आँखे ठीक है परंतु बांई आँख की रक्त नलीयाँ सूख रही है। रिपोर्ट में यह सामने आया कि अब वो जीवन भर देख  नहीं पायेंगे। लेकिन ये अर्धसत्य हैं क्योंकि हमारी जानकारी अपूर्ण है।

क्योंकि हमारा शरीर परमात्मा की अद्भुत देन है,गर्भ की उत्पत्ति नाभी के पीछे होती है और उसको माता के साथ जुडी हुई नाडी से पोषण मिलता है। इसलिए मृत्यु के तीन घंटे तक नाभी गर्म रहती है।

गर्भधारण के नौ महीनों अर्थात 270 दिन बाद एक सम्पूर्ण बाल स्वरूप बनता है। नाभी के द्वारा सभी नसों का जुडाव गर्भ के साथ होता है। इसलिए नाभी एक अद्भुत भाग है। नाभी के पीछे की ओर पेचूटी या navel button होता है।जिसमें 72000 से भी अधिक रक्त धमनियां स्थित होती है, नाभी में देशी गाय का शुध्द घी या तेल लगाने से बहुत सारी शारीरिक दुर्बलता का उपाय हो सकता है।

इस शारीरिक दुर्बलत दूर में है सहायक “नाभी”

  1. आँखों का शुष्क हो जाना, नजर कमजोर हो जाना, चमकदार त्वचा और बालों के लिये उपाय :- 

सोने से पहले 3 से 7 बूँदें शुध्द देशी गाय का घी और नारियल के तेल नाभी में डालें और नाभी के आसपास डेढ ईंच  गोलाई में फैला देवें।

  1. घुटने के दर्द में उपाय :-

सोने से पहले तीन से सात बूंद अरंडी का तेल नाभी में डालें और उसके आसपास डेढ ईंच में फैला देवें।

  1. शरीर में कमपन्न तथा जोड़ोँ में दर्द और शुष्क त्वचा के लिए उपाय :-

रात को सोने से पहले तीन से सात बूंद राई या सरसों कि तेल नाभी में डालें और उसके चारों ओर डेढ ईंच में फैला देवें।

  1. मुँह और गाल पर होने वाले पिम्पल के लिए उपाय:-

नीम का तेल तीन से सात बूंद नाभी में उपरोक्त तरीके से डालें।

नाभी में तेल डालने का कारण

हमारी नाभी को मालूम रहता है कि हमारी कौनसी रक्तवाहिनी सूख रही है,इसलिए वो उसी धमनी में तेल का प्रवाह कर देती है।

एक तथ्य पर मैं प्रकाश डालना चाहूँगा जो हमारे पूर्वज सालों साल से कर रहे है। जब बालक छोटा होता है और उसका पेट दुखता है तब हम हिंग और पानी या तैल का मिश्रण उसके पेट और नाभी के आसपास लगाते थे और उसका दर्द तुरंत गायब हो जाता था।बस यही काम है तेल का।

अपने स्नेहीजनों, मित्रों और परिजनों में इस नाभी में तेल और घी डालने के उपयोग और फायदों जरूर बताएं।

Related posts

सेक्स सीडी में दिखने वाली महिला आई सामने, संदीप कुमार गिरफ्तार

bharatkhabar

पोलिंग पार्टियों की रवानगी के लिए बसों का टोटा, अधिकारी कर रहे माथापच्ची

Shailendra Singh

मिजोरम में आसमान से बरसी आफत, 8 लोगो की मौत

Pradeep sharma