featured यूपी

बस्तीः तहसीलदार के इशारों पर लेखपाल की रिश्वतगिरी, खुली पोल तो नप गए साहब!

बस्तीः तहसीलदार के इशारों पर लेखपाल की रिश्वतगिरी, खुली पोल तो नप गए साहब!

बस्तीः जिले में लेखपाल द्वारा रिश्वत लेने का एक मामला काफी तूल पकड़ता नजर आ रहा है। लेखपाल पर काश्तकाल से रिश्वत लेने आरोप है, साथ ही आरोप ये भी है की लेखपाल ने रिश्वत लेने के बावजूद उसका काम नहीं किया।

आरोप लगाया गया है कि नायब तहसीलदार निखिलेश के इशारों पर लेखपाल काश्तकारों से जबरन धन वसूलते हैं। तहसीलदार हर्रैया ने आरोपी लेखपाल को जांच से बचाने की जिम्मेदारी ली है। जिसके कारण तहसील में घूसखोरों का मनोबल अपनी चरम सीमा पर पहुंच गया है।

दरअसल, गौर क्षेत्र पंचायत के गोभिया गांव के रहने वाले मोहम्मद अजीम ने अपने पट्टे की जमीन पर कब्जा दखल के लिए एसडीएम हर्रैया को पिछले महीने एक एप्लीकेशन दिया था। एसडीएम के आदेश पर नायब तहसीलदार हर्रैया निखिलेश कुमार, हल्का लेखपाल अरविंद कुमार पासवान के साथ जमीन पर गए। अजीम ने बताया कि लेखपाल ने पक्ष में रिपोर्ट बनाने के लिए 10 हजार की रिश्वत मांगी। अजीम ने बताया कि मैंने तुरंत पैसा नहीं होने की बात कही, तो उन्होंने अपना नंबर दिया और कहा कि ‘गूगल पे’ कर दें।

अजीम ने 28 मार्च को घूस दी और काम का इंतजार करने लगा। तीन महीने गुजर जाने के बाद भी लेखपाल टाल-मटोल करने लगा। परेशान होकर अजीम तहसील पहुंचा और लेखपाल से काम न होने का कारण पूछा। जिसपर लेखपाल ने दोबारा 20 हजार रुपए की रिश्वत नायब तहसीलदार के लिए मांगी और कहा कि रिश्वत देने के बाद उनके मुताबिक रिपोर्ट लगा दी जायेगी।

परेशान अजीम ने पूरे मामले की शिकायत एसडीएमम सुखवीर सिंह से की, जिसके बाद उन्होंने मामले की जांच की जिम्मेदारी तहसीलदार को सौंपी। तहसीलदार ने आरोपी लेखपाल से इस पर स्पष्टीकरण देने के लिए 15 दिन का समय दिया। समय समाप्त भी हो गया लेकिन किसी भी प्रकार का कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया गया।

अजीम ने लेखपाल पर धमकी देने का आरोप लगाते हुए कहा कि लेखपाल का कहना है कि शिकायक करके बड़ी गलती कर दी है। अब न तो तुम्हारा काम होगा और न ही हमारा कुछ बिगड़ेगा। तहसीलदार साहब ने जिम्मा ले लिया है।

Related posts

1जून को गंगा दशहरा का पर्व, लॉकडाउन में कैसे मनाएं?

Mamta Gautam

योगी से मिले सुनील भराला, परशुराम धाम की मांग

Trinath Mishra

मणिशंकर अय्यर ने फिर एक बार पीएम मोदी पर साधा निशाना,कहा- एक समुदाय को पिल्ला समझते हैं मोदी

rituraj