January 18, 2022 6:55 am
Breaking News featured देश

कांग्रेस विधायक ने प्रेस कांफ्रेंस कर भाजपा के किसान सम्मेलन को बताया नौटंकी, सरकार पर लगाए कई आरोप

d96142a2 fedf 4985 8d58 11391d118649 कांग्रेस विधायक ने प्रेस कांफ्रेंस कर भाजपा के किसान सम्मेलन को बताया नौटंकी, सरकार पर लगाए कई आरोप

बक्सर। कृषि कानून को लेकर किसानों का आंदोलन आज भी जारी है। किसान आंदोलन को आज 27वां दिन है। किसान अपनी मांगों को लेकर दिल्ली में डेरा डाले हुए बैठे हैं। इसके साथ ही किसानों के समर्थन में दूसरे राज्यों के किसान भी दिल्ली की कूच कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ भाजपा कृषि कानूनों के बारे में किसानों को बताने के लिए जगह-जगह किसान सम्मेलन कर रही है। जिससे किसानों को सरकार द्वारा लाए गए कानून से अवगत कराया जा सके। इसी बीच सोमवार को बक्सर जिले के राजपुर विधायक विश्वनाथ राम और बक्सर सदर कांग्रेस विधायक संजय तिवारी ने प्रेस कांफ्रेंस की। पीसी के दौरान उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए उनके किसान सम्मेलनों को पूरी तरह से नौटंकी करार दिया। विधायक ने आरोप लगाया है कि भाजपा के किसान सम्मेलनों में केवल पार्टी के नेता और कार्यकर्ता जुट कर अपने पार्टी की टीआरपी बढ़ा रहे हैं।

राज्य और केंद्र की सरकार किसानों के साथ छलावा कर रही- कांग्रेस विधायक

बता दें कि कांग्रेस विधायक ने कहा कि भाजपा के किसान सम्मेलनों में एक भी किसान नहीं पहुंच रहे हैं। उन्होंने बीजेपी को चुनौती देते हुए कहा है कि भाजपा ने बक्सर में जो किसान सम्मेलन किया उसमें एक भी किसान नहीं आए। अगर किसान आए हैं तो उनकी लिस्ट चैनलों और समाचार पत्रों के माध्यम से भाजपा सार्वजनिक करें। एमएसपी पर किसानों के धान की खरीदारी नहीं हो रही है। केंद्र सरकार और बिहार सरकार केवल खोखले दावे कर रही है। वहीं, पीसी के दौरान बक्सर के सांसद पर प्रतिक्रिया देते हुए मुन्ना तिवारी ने कहा कि अश्विनी कुमार चौबे मानसिक रूप से विक्षिप्त हो गए हैं। उन्हें मानसिक आरोग्यशाला या रांची भेजने की जरूरत है। इस दौरान उन्होंने उपमुख्यमंत्री के बयान पर भी जमकर प्रहार किया और सोच समझ कर बयान देने की नसीहत दी। इसके साथ ही कांग्रेस विधायक ने दावा किया कि राज्य और केंद्र की सरकार किसानों के साथ छलावा कर रही है। वहीं, उन्होंने केंद्र सरकार और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सवाल किया कि सरकार यह सार्वजनिक करे कि बिहार और बक्सर के किन-किन पंचायतों में न्यूनतम मूल्य पर किसानों के धान की खरीद हो रही है।

Related posts

इलाहाबाद- बारा इलाके में एसडीएम और सीओ ने चेकिंग के दौरान 50 लाख रूपये पकड़े

piyush shukla

किसी भी हाल में नेपाल से रिश्ता क्यों नहीं तोड़ेगा भारत?

Mamta Gautam

भारतीय मजदूर संग के महासचिव ने कहा- आर्थिक स्थिति खराब नहीं, यशवंत सिन्हा राजनीतिक व्यक्ति हैं

Pradeep sharma