omkar tomar

मेरठ से संवाददाता शानू भारती की रिपोर्ट। 
मेरठ के ईशापुरम इलाके में वकील ओमकार तोमर ने सुसाइड पर कर लिया। वह बंद कमरे में फांसी के फंदे पर झूल गए। उनकी मौत के बाद परिवार के लोगों ने थाने का घेराव करके हंगामा कर दिया। परिवार के लोगों ने भाजपा विधायक दिनेश खटीक पर गंभीर आरोप लगाए हैं। लोगों ने विधायक की गिरफ्तारी की मांग कर रहे लोगों ने सड़क जाम करके जमकर नारेबाजी की। देर शाम पुलिस ने मामले की रिपोर्ट दर्ज कर ली। पुलिस पूरूे मामले की छानबीन कर रही है।

ओमकार सिंह तोमर ईशानगर इलाके में रहते थे। परिवार के लोगों के मुताबिक वह लंबे समय से डिप्रेशन में थे। कुछ लोग उन्हें परेशान कर रहे थे। इस मामले में एक सत्ताधारी विधायक दिनेश खटीक का नाम भी सामने आ रहा है। आत्महत्या की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। पुलिस को वकील के कमरे से एक सुसाइड नोट भी मिला। पुलिस सुसाइड नोट कब्जे में लेकर जांच कर रही है।

परिवार के लोगों ने किया थाने का घेराव

ओमकार तोमर के परिवार के लोगों और रिश्तेदारों ने गंगानगर थाने का घेराव किया। परिवार के लोग पूरे मामले की जांच कराए जाने की मांग कर रही है। पुलिस काफी देर तक लोगों को समझाने की कोशिश करती रही। मगर वो नहीं माने। उनका कहना है कि सुसाइड नोट के सभी बिंदुओं की जांच करके दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

विधायक के खिलाफ सड़क पर धरना प्रदर्शन 

दोपहर बाद ओमकार तोमर के परिवार के साथ भारी भीड़ जुट गई। थाने में जमकर हंगामा करने के बाद लोग सड़क पर धरने पर बैठ गए और विधायक की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। काफी देर तक चले हंगामे और प्रदर्शन के बाद पुलिस ने मामले की रिपोर्ट दर्ज कर ली। पुलिस अफसरों के मुताबिक मामले की जांच की जा रही है। वकील के घर से मिले सुसाइड में दर्ज सभी तथ्यों की भी गहनता से छानबीन की जा रही है।

विधायक का नाम आते ही लखनऊ तक पहुंचा मामला 

ओमकार तोमर के परिवार के लोगों ने भाजपा विधायक पर आरोप मढ़कर हंगामा शुरू किया तो इसकी गूंज लखनऊ तक पहुंच गई। पार्टी और सरकार से जुडे़ लोग यह जानने की कोशिश में जुटे रहे कि आखिर मेरठ में हुआ क्या है। शाम होते-होते इस मामले के तमाम वीडियो, फोटो और परिवार की शिकायत सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। इस मामले में भाजपा विधायक की तरफ से अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

बेटे के ससुरालियों से चल रहा था ओमकार का विवाद

ओमकार तोमर के बेटे की शादी खतौली मुजफ्फरनगर में हुई थी पत्नी के साथ विवाद के चलते ससुराल पक्ष के लोगों ने ओमकार तोमर उनके बेटे और परिवार के अन्य सदस्यों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया था आरोप है कि बेटे ने खतौली में ससुराल के लोगों पर फायरिंग कर दी थी। उसके बाद ओमकार तोमर और उनके बेटे पर जानलेवा हमले का मुकदमा भी दर्ज कराया था। जिसके बाद खतौली पुलिस लगातार ओमकार चौधरी के घर पर दबिश डाल रही थी। इस वजह से भी वह बेहद परेशान थे।
वकील के परिवार की तहरीर
प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर बयान की थी अपनी पीड़ा

ओमकार तोमर के परिचितों के मुताबिक उन्होंने कुछ दिन पहले ही प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर अपनी पीड़ा बयान की थी कुछ लोग उन्हें लंबे समय से परेशान कर रहे थे। इस वजह से वह तनाव में थे। परिवार के लोग लगातार इस मामले के सभी आरोपियों को सजा दिलाए जाने की मांग कर रहे हैं।

योगी सरकार का बड़ा फैसला, वापस लिए जाएंगे लॉकडाउन में दर्ज ढाई लाख केस

Previous article

वैलेंटाइन वीक में स्कूल टीचर ने पुरुषों के लिए नेट पर लगाई संस्कारशाला, पूछे अनूठे सवाल

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in #Meerut