September 23, 2021 10:43 am
धर्म

मथुरा काशी में आज मनाई जाएंगी जन्माष्टमी, होगी पूजा अर्चना

मथुरा

जन्माष्टमी का त्यौहार 2 दिन मनाया जाता है। सामान्य लोगों ने कल यानि मंगलवार को जन्माष्टमी का त्यौहार मनाया है और आज काशी और मथुरा में जन्माष्टमी का त्यौहार मनाया जायेगा। काशी और मथुरा में एक दिन बाद ही यह त्यौहार मनाया जाता है। मथुरा को श्री कृष्णा की जनम भूमि मन जाता है। इसलिए मथुरा में इसे खास तरीके से मनाया जाता है। यहाँ के मंदिरों को पूरी तरह से सजाया जाता है। पूरे भारतवर्ष में इस त्यौहार को बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। कोरोना काल के चलते इस वर्ष जन्माष्टमी का त्यौहार उस प्रकार से नहीं मनाया जायेगा जिस प्रकार से हर वर्ष मनाया जाता है। कोरोना संक्रमण के बचाव के चलते मंदिरों में इस बार भीड़ इकट्ठा नहीं की जा सकती है। लोग कृष्ण जन्म भूमि जाकर इसका आनंद नहीं ले सकते है। लेकिन इस बार सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए कृष्ण के जन्मदिन को लेकर होने वाले कार्यक्रम का लाइव टेलीकास्ट किया जायेगा। भक्तों के लिए इस प्रकार की विशेष वयवस्था की गयी है जिसके माद्यम से लोग इस बार कृष्ण की जन्म भूमि का दर्शन कर सकते है और पूजा पाठ भी कर सकते है।

आज मथुरा में होगी कृष्ण की लीला

आज के दिन पूरा मथुरा कृष्ण की लीला करता है और पूरा मथुरा और ब्रज ख़ुशी से सरोबार रहता है ये ख़ुशी का वो पल होता है जिसका भक्त बेसब्री से इंतजार करते है। इस दिन मथुरा के हर घर में कृष्ण की लीला की जाती है। पूजा अर्चना की जाती है आज के दिन पूरा मथुरा कृष्णमय रहता है। आज के दिन हर भक्त के दिल में कृष्ण बसते है और उन्ही की लीला का गुणगान किया जाता है। आज मथुरा के सभी मंदिरो में शुरू हो चुकी है। श्री कृष्ण मंदिर में भगवान श्री कृष्ण का मंगल अभिषेक किया गया है।

वृंदावन में भी किया अभिषेक

श्री कृष्ण जन्म भूमि स्थल पर मंगल आरती सम्पन की गयी है। वही वृंदावन के श्री राधा रमण मंदिर में जन्माष्टमी के मौके पर भगवान श्री कृष्ण का मंगल अभिषेक किया गया है। जिससे वहां का माहौल बेहद ही मंगलमय हो गया है। पूजा अर्चना भी की गयी है और सुख शांति की कामनाएं भी की गयी है। मंदिर को पूरी तरह से सजाया गया है जिससे इस मोके को खास बनाया जा सके और भगवान श्री कृष्ण को खुश किया जा सके। उनके भक्तों की तरफ से कोई कमी न रहे। इसको लेकर पहले ही सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी थी। इस मौके पर भक्तों में ख़ुशी की लहर है।

मंदिरों की सुरक्षा की गयी कड़ी

कोरोना काल के चलते इस बार पूरे मथुरा और वृंदावन में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। मथुरा और वृंदावन के हर मंदिर को 10 अगस्त से 13 अगस्त तक बाहर से आए लोगों के लिए बंद कर दिया गया है। वहां पर मौजूद लोगों के लिए ही अनुमति दी गई है वही जन्मभूमि के आसपास की सुरक्षा को खड़ा कर दिया गया है। मंदिरों के आसपास में मुख्य द्वारों पर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है जिससे किसी भी प्रकार की कोई परेशानी का सामना ना करना पड़े। सुरक्षा में किसी प्रकार की कोई चूक ना हो। ऐसा पहली बार देखा जा रहा है जब जन्माष्टमी के दिन मथुरा में भीड़ इकट्ठा नहीं की गई है।

कार्यक्रम का किया गया लाइव टेलीकास्ट

कोरोना काल के चलते मथुरा में भगवान श्री कृष्ण की जन्मभूमि पर भी जन्माष्टमी के अवसर पर पूजा शुरू कर दी गई है। भगवान श्री कृष्ण के जन्म स्थल पर सुबह ही पूजा शुरू की गई है। आज सुबह जन्म स्थल के मंदिर में मंगल आरती संपन्न की गई है। इस पूरे कार्यक्रम का लाइव टेलीकास्ट किया गया है। जिससे भक्तों के लिए उनके दर्शन किए जा सके। पूरा मथुरा श्री कृष्ण की लीला में भक्ति लीन हो गया है और इस दिन को लेकर पूरे देश में खुशी का माहौल है।

Related posts

30 जून से वृहस्पति ग्रह ने बदली चाल जानिए किन राशियों पर टूटेगी आफत किन्हें मिलेगा आराम..

Mamta Gautam

शुक्ल पक्ष की अमावस्या को करते हैं वट सावित्री व्रत, जानें कैसे करते हैं कथा-पूजा

bharatkhabar

हुरियारों और ब्रज की गोपियों के बीच आज खेली जाएगी विश्वप्रसिद्ध लठमार होली, जाने क्या है महत्व

Rani Naqvi