featured पर्यटन यूपी

जानिए आखिर क्या है लाइट मेट्रो, यूपी बजट 2021 में 100 करोड़ पास

जानिए आखिर क्या है लाइट मेट्रो, यूपी बजट 2021 में 100 करोड़ पास

लखनऊ: सोमवार को यूपी सरकार का पांचवा बजट सामने आया, इसमें कई योजनाओं का एलान किया गया। बजट 2021 में लाइट मेट्रो का संचालन भी प्रमुख रहा, इस घोषणा ने बहुतों का ध्यान खींचा।

यह भी पढ़ें: शिक्षा क्षेत्र और युवाओं को बजट में मिली बड़ी सौगात,

गोरखपुर, वाराणसी में होगा संचालन

राजधानी में मेट्रो का आना लखनऊ वासियों के लिए बड़ी खुशी की बात थी। यही कारण है कि इसका क्रेडिट सपा और भाजपा दोनों अक्सर लेते रहते हैं। अब बजट 2021 में लाइट मेट्रो की बात भी कही जा रही है। इसका संचालन गोरखपुर, वाराणसी एवं कुछ अन्य शहरों में होगा।

छोटे शहरों के लिए सबसे उपयुक्त

लाइट मेट्रो अपने नाम की तरह ही लाइट होती है, इसे कम संसाधन और सुविधाओं के रहते भी संचालित किया जा सकेगा। कई शहरों में पर्याप्त जगह न होने की स्थिति में इस तरह की नई तकनीक का इस्तेमाल होता है।

lko metro जानिए आखिर क्या है लाइट मेट्रो, यूपी बजट 2021 में 100 करोड़ पास

इसका कॉरिडोर सड़क के समानांतर ही होता है, इस तरह इसके लिए कोई अलग रूट नहीं बनाना होगा। जहां संभव नहीं होगा, उधर ओवरहेड की मदद ली जायेगी। यह कम जगह में मुड़ भी सकती है और सिर्फ तीन-चार कोच ही होते हैं।

रोड पर ही चलेगी लाइट मेट्रो

इसको चलाने के लिए फुटपाथ को बंद करके ट्रैक के रूप में इस्तेमाल होगा। इस मेट्रो लाइन के दोनों ओर फेसिंग भी की जाती है। ट्रेन की कुल लंबाई के एक तिहाई हिस्से में शेड बनाया जाता है, इसे प्लेटफार्म पर ही बनाया जाता है।

इस विषय में अधिक जानकारी एमडी एलएमआरसी कुमार केशव ने दी। उन्होंने बताया कि छोटे शहरों के लिए इस तरह की मेट्रो सबसे उपयुक्त मानी जाती है क्योंकि कम जगह भरते हुए ज्यादा सुविधा इसकी मदद से मिलती है।

इससे ट्रांसपोर्ट बेहतर होता है और आम लोगों के लिए भी सहूलियत होती है। बजट 2021 में लाइट मेट्रो का संचालन सुनिश्चित किया गया है। इसके बाद जल्द ही वाराणसी और गोरखपुर जैसे शहरों में इसका काम शुरू हो जाएगा।

Related posts

बिहारः इफ्तार पार्टी में शत्रुघ्न सिन्हा ने किया जेडीयू को निराश,राजद से दो-दो हाथ

mahesh yadav

ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक समाप्त, वसीम रिजवी सहित जनसंख्या कानून का विरोध

Shailendra Singh

प्रतिदिन 71 हजार लोग जाते हैं विदेश, हवाई यात्रा करना बना भारतीयों की पहली पसंद

bharatkhabar