September 30, 2022 2:16 am
featured देश

जानिए सुकमा नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों के बारे में…

shahid jawan 1 जानिए सुकमा नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों के बारे में...

मुज़फ्फरनगर। सुकमा नक्सली हमले से पूरे देश में शोक की लहर है। इस हमले को अभी तक का सबसे बड़ा हमला कहा जा रहा है जिसे करीबन 300 नक्सलियों ने अंजाम दिया और 25 जवान शहीद हो गए। अगर खबरों की मानें तो इस हमले में बड़ी संख्या में महिलाओं की मौजूदगी भी बताई जा रही है हालांकि इस बारे में किसी भी तरह का खुलासा नहीं हुआ है। लेकिन इतना तो तय है इस हमले ने कई मांओं की गोद को सूना कर दिया है तो कई घर भी उजाड़ दिए है।

shahid jawan 1 जानिए सुकमा नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों के बारे में...

अपने बेटी की शहादत पर गर्व करती है ये मां:-

इस हमले में देश के कोने-कोने से 25 जवान शहीद हुए है जिसमें कुछ जवान यूपी के तो कुछ का ताल्लकु बिहार और हिमाचल से है। अपने जवान बेटे को खो चुकी मुज़फ्फरनगर में रहने वाली शहीद की मां ने कहा कि मुझे मेरे बेटे पर गर्व हैं। देश की रक्षा में अगर उनके और बेटों की भी जान चली जाय तो उनके जैसा सौभाग्यशाली कोई भी नहीं होगा।

naxal attack जानिए सुकमा नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों के बारे में...

सुकमा हमले में शहीद 25 जवानों में मुज़फ्फरनगर जिले के छोटे से गांव में रहने वाले किसान परिवार में जन्मे 25 वर्षीय सीआरपीएफ के जवान मनोज कुमार का नाम भी शामिल हैं जिन्होंने साहस दिखाते हुए नक्सलियों से मोर्चा लिया और वीरगति को प्राप्त हुए। जैसे ही बेटे के शहीद होने की खबर घर पहुंची तो परिवार में रोना-पीटना मच गया। भाई-बहन रो रहे हैं तो मां की चीख चिल्लाकर रोते हुए आंखें पथरा गईं हैं।

नक्सली हमले में बिहार के 6 सपूत भी थे शामिल:-

इस नक्सली हमले में बिहार के 6 जवान भी शहीद हुए है। जिसमें सासाराम के कृष्ण कुमार पांडेय, चेनारी से अभय कुमार लोमा, वैशाली से रंजीत कुमार अरियरि, दरभंगा से शेखपुरा, नरेश यादव अहिला, दानापुर से सौरभ कुमार, भोजपुर कैंट अभय मिश्र का नाम शामिल है। अगर हमले की बात करें तो कुछ घायल जवानों को एयरलिफ्ट कर रायपुर लाया गया। इनमें शामिल जवान शेर मोहम्मद ने बताया कि नक्सली गांव वालों की आड़ में हमले कर रहे थे। उसने बताया कि 99 जवानों का दल दोरनापाल के पास बन रही सड़क की सुरक्षा में तैनात थे। लेकिन दोपहर करीबन 12:30 बजे नक्सलियों ने बारूदी सुरंग का विस्फोट किया। इसके बाद अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी।

हिमाचल से दो जवान हुए शहीद:-

सुकमा में हमले में हिमाचल के भी दो जवान शहीद हो गए है। पहले हुए शहीद कांगड़ा जिला के पालमपुर उपमण्डल के नगरी गांव के रहने वाले है जिनका नाम संजय शर्मा है। संजय शर्मा 1990 में सीआरपीएफ में भर्ती हुए थे। वे अपने पीछे दो बेटियां, पत्नी व माता-पिता छोड़ गए हैं।
संजय शर्मा के पिता भी सीआरपीएफ में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। गांव के लाल की शहादत की खबर मिलते ही परिवार और गांव में गम का माहौल है।

इसके साथ, मंडी जिला के नेरचौक कस्बे के 33 वर्षीय सुरेंद्र कुमार पुत्र स्वर्गीय रवि सिंह भी इस हमले में शहीद हुए हैं। सुरेंद्र सीआरपीएफ बटालियन 74 में कार्यरत थे। सुरेंद्र अपने पीछे माता विमला, पत्नी किरण, तीन वर्षीय बेटी एलिना, बड़े भाई जितेंद्र को छोड़ गए है। बता दें कि छत्तीसगढ़ में बीते 7 साल में सीआरपीएफ पर यह सबसे बड़ा हमला है। इससे पहले 2010 में 76 जवान शहीद हुए थे।

Shipra जानिए सुकमा नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों के बारे में... (शिप्रा सक्सेना)

Related posts

मोदी बन जाएंगे सोशल मीडिया के किंग, जानिए कैसे ?

kumari ashu

बर्फ सी जमी देवभूमि का पारा होगा गर्म! पीएम मोदी 25 हजार करोड़ की योजनाओं को लेकर पहुंच रहे हैं उत्तराखंड

Neetu Rajbhar

कोरोना हालातों पर प्रियंका गांधी ने सीएम योगी को भेजा पत्र, की ये बड़ी मांग

Shailendra Singh