featured देश यूपी राज्य

जाने देश के किन-किन राज्यों में देखने को मिला किसानों के रेल रोको आंदोलन का असर

punjab 1604566023 जाने देश के किन-किन राज्यों में देखने को मिला किसानों के रेल रोको आंदोलन का असर

भारतीय किसान यूनियन और किसान संयुक्त मोर्चा के आवाहन पर पूरे देश में रेलवे ट्रैफिक को जाम करने की कड़ी में रुद्रपुर शहर में भी किसानों ने रेलवे ट्रैक पर बैठ कर प्रदर्शन किया। काठगोदाम से दिल्ली जाने वाली रेलवे लाइन रुद्रपुर से होकर गुजरती है । रुद्रपुर रेलवे स्टेशन के नजदीक किसानों ने रेलवे ट्रैक को जाम कर के किसान बिल वापस करने की मांग दोहराई। किसान आंदोलन लगातार बढ़ता नजर आ रहा है और किसी तरह की कोई जनहानि या कोई घटना ना हो इसको लेकर पुलिस प्रशासन भी पूरी मुस्तैदी के साथ वहां मौजूद रहा। रेलवे ट्रैक पर मौजूद किसानों ने बताया कि जब तक किसान बिल वापस नहीं लिए जाते तब तक उनका आंदोलन लगातार जारी रहेगा। किसानों ने कहा कि लखीमपुर खीरी की घटना को भुलाया नहीं जा सकता है ।

pic 3 जाने देश के किन-किन राज्यों में देखने को मिला किसानों के रेल रोको आंदोलन का असर

हरियाणा के टोहाना में किसान मोर्चा के आह्वान पर किसानों की तरफ से सरबत का भला एक्सप्रेस ट्रेन को रोक दिया, इस मौके पर यात्रियों को उन्होंने यह भी बताया कि बस कहां से मिलेगी। इसके बारे में जानकारी देते हुए किसान मोर्चा टोहाना से जुड़े रणजीत सिंह ढिल्लों ने बताया है कि सँयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर ट्रेन रोको अभियान पूरे देश में चलाया जा रहा है। इसी अभियान की कड़ी में टोहाना रेलवे स्टेशन पर किसान मजदूरों के संयोग से ट्रेन को रोक दिया गया है। उन्होंने बताया कि इस दौरान किसी को कोई तकलीफ ना हो इसीलिए यात्रियों को बस के बारे में भी बताया गया है। उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी में शहीदों को इंसाफ दिलवाने के लिए यह कार्य किया गया है। जब तक तीन कृषि कानून रद्द नहीं हो जाते तब तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा, किसान मोर्चा के द्वारा जो भी आदेश दिया जाएगा उस पर चलते रहेंगे।

a 1634544267 जाने देश के किन-किन राज्यों में देखने को मिला किसानों के रेल रोको आंदोलन का असर

संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से आह्वान किया गया था कि लखीमपुर खीरी प्रकरण मामले में किसान 18 अक्टूबर यानी आज रेल रोको अभियान चलाया जाएगा। इसी कड़ी में आज कुरुक्षेत्र रेलवे स्टेशन पर भारतीय किसान यूनियन के सैंकड़ो किसानों ने यूनियन के नेता की अगुवाई में रेलवे ट्रेक को जाम किया। इस दौरान 2 ट्रेनों को भी रोका गया। हालांकि इस दौरान ट्रेन में सफर कर रहे यात्रियों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

वहीं यूपी के लखनऊ में भी कृषि कानून के खिलाफ किसानों का कई महीनों से प्रदर्शन जारी है। जिसमें आज किसानों ने रोको आंदोलन का एलान किया है। इसमें 6 घंटे तक देश के अलग-अलग हिस्सों में किसानों द्वारा ट्रेनें रोकी जाएंगी। हालांकि इस को देखते हुए प्रशासन पहले से ही अलर्ट मोड पर है। यहां पर रेलवे पुलिस , पीएससी सहित स्थानीय पुलिस को पहले से ही भारी संख्या में तैनात कर दिया गया है।

1613629579 kisan aandolan जाने देश के किन-किन राज्यों में देखने को मिला किसानों के रेल रोको आंदोलन का असर

मेरठ में भी लखीमपुर खीरी घटना में नामजद मंत्री की बर्खास्तगी के बाद गिरफ्तरी की मांग का किसानों द्वारा सरकार को दिया गया समय पूरा होने पर पहले 16 तारीख में मंत्रियों के पुतले फुके ओर आज रेल रोको आंदोलन का आव्हान किया हुआ था जिसके चलते भारी बारिश के बीच किसानों के हौसले कमजोर दिखाई नही दिए ओर उन्होंने मेरठ में कई स्थानों पर रेल रोको आंदोलन के तहत रेल पटरियों पर तिरपाल बिछा कर धरने पर बैठ गए । ओर उनके सरकार द्वारा लखीमपुर खीरी समझौते को पूरा करने की बात कर रहे है कब तक उनकी मांगे पूरी नही होती उनका धरना प्रदर्शन जारी रहेगा

Related posts

सांसद जगदंबिका पाल को हुआ कोरोना, खुद को किया क्वारंटीन, जानिए कैसे आए चपेट में

Aditya Mishra

एयर इंडिया की ऐतिहासिक उड़ान, सऊदी के रास्ते फ्लाइट पहुंची तेल अवीली

lucknow bureua

आतंकी अजहर ने कहा: जेहादियों के लिए रास्ता खोले पाक सरकार

bharatkhabar