featured धर्म राज्य

कोरोना काल के बाद जाने कैसा है इस साल का करवा चौध

karwa chauth 1571039090 कोरोना काल के बाद जाने कैसा है इस साल का करवा चौध

देश में करवा चौध का त्योहार बहुत ही धूम से मनाया जा रहा है। त्योहार से एक दिन पहले महिलाओं ने बाजार से खरीदारी की। करवा चौथ पर्व ने बाजारों की रौनक बढ़ा दी है। बाजारों में सुहागनों की रौनक रही। महिलाएं बाजार में करवा चौथ से जुड़े सामान की खरीदारी करती हुई दिखाई दी। सुहागिन नारी स्वयं के सजने-संवरने से जुड़े कॉस्मेटिक के सामान से लेकर चूडियां खरीदने से लेकर मेंहदी लगवाती नजर आई।

karwa कोरोना काल के बाद जाने कैसा है इस साल का करवा चौध

बता दें बाजारों में महिलाओं की जरूरत के सामान की ज्यादा दुकानें हैं। जहां महिलाएं चुटकी, पायल, सिंदूर, चूडियां, सूट, साड़ी, मिठाई, करवा और पुरुषों की तरफ से पत्नी को करवा चौथ पर दिया जाने वाले उपहार की खरीदारी हुई। महिलाएं जहां स्वयं के सजने, संवरने का सामान खरीदती है। बाजार में भले ही चूडियों की सैकड़ों वेराइटी आ गई हों, लेकिन जब बात करवा चौथ और तीज जैसे त्योहारों पर साज श्रृंगार की होती हैं तो महिलाएं कांच की चूडियों को तरजीह देती हैं। महिलाएं परिधानों से मैचिंग की चूडियां खरीदने में दिलचस्पी दिखाती है।

karwa chauth 2 कोरोना काल के बाद जाने कैसा है इस साल का करवा चौध

इसके अलावा बाजार में फ्लोरोसेंट रंगों में चूडियां खूब बिकी। मेंहदी लगवाने पहुंची। खरीदारी करने आई विवाहिता महिला ने बताया कि विवाहिता विवाह के समय ही पति का हर कदम पर साथ देने का वचन लेती हैं। करवा चौथ उसी वचन को निभाने की ही एक तरीका है। विवाहिताओं को चाहिए कि व्रत पर पति की लंबी आयु की दुआ के साथ-साथ समाज के कल्याण का भी संकल्प लें। इसी पर्व को करवा चौथ कहा जाता है। पिछले वर्ष तो कोरोना का कहर था। जिसकी वजह से यह पर्व कॉफी हद तक फिका रह गया था। लेकिन इस बार बाजारों में रौनक बनी हुई है और वे खूब खरीदारी कर रही हैं। जिससे इस बार उनका यह पर्व कॉफी अच्छा रहने वाला है।

Related posts

यूपी पुलिस पर हो रहा लगातार हमला, दहशत में है खाकी

Shailendra Singh

अमरिंदर सरकार में हुआ कैबिनेट विस्तार, 9 मंत्रियों ने ली शपथ

lucknow bureua

मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर SC सख्त, राज्य सरकारों से मांगी रिपोर्ट

mahesh yadav