September 20, 2021 9:50 pm
featured धर्म

बाँके बिहारी मंदिर वृन्दावन में क्यों डलता हैं पर्दा।

banke bihari mandir बाँके बिहारी मंदिर वृन्दावन में क्यों डलता हैं पर्दा।

भगवान श्री कृष्ण के चाहने वाले सिर्फ देश में ही नहीं बल्कि दुनियाभर में मौजूद हैं। यही कारण है कि, भगवान कृष्ण के भक्त कान्हा की नगरी मथुरा में खुद को आने से रोक नहीं पाते हैं। मथुरा में भगवान कृष्ण के जीवन से जुड़े कई रहस्य हैं। जिन्हें जानने के लिए भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ती है। और खासतौर पर भगवान कृष्ण के सबसे बड़े मंदिर कहे जाने वाले बांके बिहारी मंदिर में सबसे ज्यादा भगवान कृष्ण के भक्त आते हैं।

krishna 1 1 बाँके बिहारी मंदिर वृन्दावन में क्यों डलता हैं पर्दा।
आपको बता दें, मथुरा में यहां पर बांके विहारी जी का मंदिर सबसे प्राचीन है। इस स्थान की महिमा का वर्णन हरिवंश पुराण, श्रीमद्भागवत, और विष्णु पुराण आदि कर्इ ग्रंथों में किया गया है। विष्णु पुराण में इस बात के साथ वृन्दावन में कृष्ण की लीलाओं का वर्णन किया गया है। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि, बांके बिहारी मंदिर में भगवान कृष्ण से लगातार आंखे मिलाने पर पाबंदी है। और इसके पीछे एक रोचक कहानी है। बांके बिहारी की मूर्ति बनाई नहीं गई थी बल्कि ये स्वामी हरिदास के अनुरोध पर प्रकट हुई थी ताकि अन्य लोग भी इसके दर्शन कर भगवान के साक्षात दर्शन कर उनका आशीर्वाद ले सकें।

कहा जाता है कि ये मूर्ति किसी धातु की नहीं बल्कि लकड़ी की है। ये मूर्ति भागवान कृष्ण और राधा जी को समर्पित है। इसलिए जो भी भक्त इस मूर्ति की आंखों में आंखें डालकर प्रेम पूर्वक निहारता है तो भगवान उस भक्त पर कृपा करने से खुद को नहीं रोक पाते। और भक्त के पीछे-पीछे चले जाते हैं। इसके साथ ही जडो भक्त भी भगवान कृष्ण की गौर से देखता है तो उसकी आंखों से आंसू निकलने लगते हैं। जिसका कारण उन्हें खुद भी पता नहीं होता। उसके बाद यहां बस जाने का या बार बार आने का मन करता है। यहां आए भक्तों को कभी निराशा हाथ नहीं लगती, बांके बिहारी सबकी कामना पूरी करते हैं।

https://www.bharatkhabar.com/question-in-the-sc-on-the-law-prohibiting-sacrifice-in-kerala/
इसीलिए बांके बिहारी मंदिर में बार-बार पर्दा खिंचते रहते हैं ताकि भगवान कृष्ण किसी भक्त के सात न चलें जाएं। अगर आप अभी तक इस पान मंदिर के दर्शन करने नहीं गये हैं तो एक बार जरूर जाएं। यहां जाकर आपके मन को शांति मिलेगी।

Related posts

भाजपा के लिए गाय ‘ममी’ है और पूर्वोत्तर में ‘यमी’: असदुद्दीन ओवैसी

Rahul srivastava

यूपी में डेंगू और वायरल बुखार का कहर, फिरोजाबाद में अब तक 75 लोगों की गई जान

Rani Naqvi

मोदी सरकार के 1 साल पूरा होने पर बोले जेपी नड्डा, कोरोना के चलते पीएम मोदी ने लिए सही फैसले

Shubham Gupta