Breaking News featured देश

दिल्ली विधानसभा में सीएम केजरीवाल ने फाड़ी कृषि कानून की प्रति, बोले- भगत सिंह ने इस दिन के लिए कुर्बानी नहीं दी थी

eb82e38a 0a41 4cf6 9938 361eea0f3704 दिल्ली विधानसभा में सीएम केजरीवाल ने फाड़ी कृषि कानून की प्रति, बोले- भगत सिंह ने इस दिन के लिए कुर्बानी नहीं दी थी

नई दिल्ली। किसान आंदोलन दिनों दिन उग्र होता जा रहा है। अब किसानों के समर्थन में राजनीतिक दल खुलकर सामने आ रहे है। सभी के द्वारा किसान आंदोलन का समर्थन किया जा रहा है। वहीं आज दिल्ली में किसान आंदोलन को 22वां दिन है। लेकिन सरकार की तरफ से किसानों को कोई संतोषजनक जबाव नहीं मिल पाया है। किसानों के समर्थन में अब देश के अलग-अलग हिस्सों से लोग दिल्ली पहुंच रहे हैं। इसी बीच आज किसानों की मौत पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र पर निशाना साधा और उन्होंने कृषि कानूनों की प्रति दिल्ली विधानसभा में फाड़ी। उन्होंने केंद्र से पूछा कि आप कितनी और शहादत लोगे? हर किसान भगत सिंह बन गया है।

20 से ज्यादा किसान इस आंदोलन में शहीद हो चुके- केजरीवाल

बता दें कि दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का प्रदर्शन आज 22वें दिन भी जारी है. इस बीच कई किसानों ने अपनी जिंदगी खो दी। वहीं कल बाबा राम सिंह ने किसानों के समर्थन में गोली मारकार आत्महत्या कर ली। जिसके बाद किसान आंदोलन और भड़क गया है। वहीं दिल्ली विधानसभा में सीएम केजरीवाल ने कहा, ”20 से ज्यादा किसान इस आंदोलन में शहीद हो चुके हैं। रोज एक किसान शहीद हो रहा हैं। मैं केंद्र सरकार से पूछना चाहता और कितनी शहादत और कितनी जान आप लोगे? आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल ने कहा, ”1907 में हूबहू ऐसा ही आंदोलन हुआ था। पगड़ी सम्भाल जट्टा, 9 महीने तक ये आंदोलन अंग्रेज़ों की खिलाफ चला था। उस आंदोलन की लीडरशिप भगत सिंह के पिता और चाचा ने की थी। उस वक्त भी अंग्रेज सरकार ने कहा था इसमें थोड़े बदलाव कर देंगे, लेकिन किसान डटे रहे। भगत सिंह ने भी क्या इसीलिए कुर्बानी दी थी कि आज़ाद भारत मे किसानों को इस तरह आंदोलन करना पड़ेगा।

इसके साथ ही अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र का कहना है कि किसान को कानून समझ नहीं आ रहा। आज योगी आदित्यनाथ यूपी में बड़ी रैली कर रहे हैं, मैं सुन रहा था, वो कह रहे हैं तुम्हारी ज़मीन नहीं जाएगी, मंडी बन्द नहीं होगी ये फायदा है क्या? किसी से पूछो तो एक लाइन रटा रखी है किसान अपनी फसल कहीं भी बेच सकते हैं।

Related posts

बिहार: सांसद ललन सिंह बने JDU के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष, नीतीश कुमार ने जताया भरोसा

pratiyush chaubey

व्यापारी के अपहरण व हत्या करने के आरोप में पुलिस ने पांच को किया गिरफ्तार

Trinath Mishra

अल्मोड़ा जिले के एटीएम गार्डों को नहीं मिल रही न्यूनतम मजदूरी,गार्डों ने डीएम से की शिकायत

mahesh yadav