Breaking News देश राज्य

सीएम केजरीवाल का बड़ा ऐलान, कहा- अन्य राज्यों की तरह दिल्ली का भी होगा शिक्षा बोर्ड

BORD सीएम केजरीवाल का बड़ा ऐलान, कहा- अन्य राज्यों की तरह दिल्ली का भी होगा शिक्षा बोर्ड

नई दिल्ली: दिल्ली का अब अपना खुद का शिक्षा बोर्ड होगा। शुक्रवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऐलान करते हुए कहा कि देश की राजधानी दिल्ली का अपना अलग शिक्षा बोर्ड होगा। केजरीवाल की कैबिनेट बैठक ने प्रस्ताव को मंजूरी भी दे दी है।

2021-22 में नए बोर्ड के तहत होगी पढ़ाई- केजरीवाल

कैबिनेट ने मंजूरी देते हुए कहा कि दिल्ली के कुछ स्कूलों में 2021-22 में ही नए बोर्ड के तहत पढ़ाई शुरू हो जाएगी। वर्तमान समय में दिल्ली में सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड को मिलाकर दो ही बोर्ड हैं। लेकिन अब अन्य राज्यों की तरह दिल्ली का भी अपना खुद का शिक्षा बोर्ड होगा। सीएम केजरीवाल ने कहा कि अब ऐसी शिक्षा तैयार की जाएगी ताकि पढ़ाई के बाद छात्रों को नौकरी के लिए भटकना ना पड़े। सीएम ने कहा कि हम रटने के बजाय समझने पर जोर देंगे।

BORD1 सीएम केजरीवाल का बड़ा ऐलान, कहा- अन्य राज्यों की तरह दिल्ली का भी होगा शिक्षा बोर्ड

अन्य राज्यों की तरह दिल्ली का होगा बोर्ड

सीएम केजरीवाल ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि, आज हमारी कैबिनेट ने दिल्ली बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन के गठन को मंजूरी दे दी है। यह कोई मामूली शिक्षा बोर्ड नहीं है। यह शिक्षा बोर्ड बनाने के लिए इस लिए भी जरूरी पड़ी है, क्योंकि पिछले छह साल में हमने दिल्ली के बजट का करीब 25 फीसदी हर वर्ष शिक्षा पर खर्च करना शुरू किया है। जिससे सरकारी स्कूलों की बिल्डिंग तैयार हुई है, और स्कूल में पढ़ाई स्तर सुधारने के साथ-साथ साफ-सफाई पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

नए मुकाम पर पहुंचेगी दिल्ली- केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, दिल्ली बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन’ की स्थापना दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था में हो रहे क्रांतिकारी परिवर्तन को नई ऊंचाइयों की तरफ़ लेकर जाएगा

प्राइवेट स्कूलों से बेहतर सरकारी स्कूल- केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, दिल्ली के सरकारी स्कूल प्राइवेट स्कूलों से बेहतर हैं। इन स्कूलों के परीक्षा परिणाम भी काफी अच्छे हैं। सरकारी स्कूलों का रिजल्ट 98 फीसदी है। सीएम केजरीवाल ने कहा कि, जो अभिभावक पहले अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में नहीं भेजना चाहते थे। वह आज दिल्ली के सरकारी स्कूलों को बच्चों का भविष्य सुरक्षित मानते हैं।

Related posts

संसद सत्र से पहले बुलाई गए सर्वदलीय बैठक, कई बड़े नेता मौजूद

Rahul srivastava

सफदरजंग अस्पताल में डॉ. हर्षवर्धन ने रखी स्पोर्ट्स इंजरी केंद्र विस्‍तार परियोजना की आधारशिला

Trinath Mishra

Breaking News