BharatKhabar.Com

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों ने की कश्मीरी पंडित की गोली मारकर हत्या

jammu and kashmir 1 जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों ने की कश्मीरी पंडित की गोली मारकर हत्या

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में गोली मारकर एक कश्मीरी पंडित की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी है।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में गोली मारकर एक कश्मीरी पंडित की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी है। पुलिस अधिकारी का कहना है कि आतकियों ने शाम छह बजे अनंतनाग जिले के लारकीपुरा इलाके के सरपंच और कांग्रेस के सदस्य अजय पंडित की उनके गांव में हत्या कर दी। उन्होंने कहा कि पंडित को अस्पताल पहुंचाया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। कांग्रेस के एक प्रवक्ता ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि पंडित पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता थे। फिलहाल, किसी भी आतंकी संगठन ने घटना की जिम्मेदारी नहीं ली है।

कश्मीर में हिंसा कभी नहीं जीतेगी : राहुल

बता दें कि अनंतनाग जिले में एक सरपंच  की गोली मारकर हत्या कर दिए जाने के संदर्भ में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि कश्मीर में हिंसा कभी नहीं जीतेगी। गांधी ने ट्विटर पर कहा, “पंडिता ने कश्मीर में लोकतांत्रिक प्रक्रिया के लिए अपना बलिदान दिया। अजय पंडिता के परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदना, जिन्होंने कश्मीर में लोकतांत्रिक प्रक्रिया के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया। हम दुख की इस घड़ी में आपके साथ खड़े हैं। हिंसा कभी नहीं जीतेगी।”

https://www.bharatkhabar.com/why-nepal-became-a-revelation-due-to-india/

कई शीर्ष कमांडर समेत 88 आतंकवादी इस वर्ष मार गिराए गए : डीजीपी

वहीं, जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक दिलबाग सिंह ने सोमवार (8 जून) को जम्मू में कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में इस वर्ष अब तक कई शीर्ष कमांडर समेत 88 आंतकवादी मार गिराए गए और 280 अन्य गिरफ्तार किए गए। सिंह ने कहा कि पिछले दो सप्ताह में छह शीर्ष कमांडर समेत 22 आतंकवादी मारे गए, जोकि पाकिस्तान और इसकी एजेंसियों के लिए करारा झटका है क्योंकि वे सीमा पार से बड़ी संख्या में आंतकवादियों को भेजकर हिंसा में बढ़ावा देने का कोई अवसर नहीं छोड़ता है।

 

साथ ही दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले में पिछले 24 घंटे में एक के बाद एक मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिदीन के नौ आतंकवादी को मार गिराने के कामयाब अभियान का हवाला देते हुए पुलिस प्रमुख ने कहा कि सुरक्षा बलों का उद्देश्य जम्मू-कश्मीर से आंतकवाद का सफाया करना है। उन्होंने कहा कि चेनाब घाटी के रामबन, डोडा और किश्तवाड़ जिला एक बार फिर लगभग आतंकवाद मुक्त हो गए हैं।

Exit mobile version