कर्नाटक विधानसभा चुनाव: बीजेपी की नजर उस जगह, जहां से नहीं मिली थी एक भी सीट

मैसूर। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए कांग्रेस और बीजेपी कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। इस चुनाव में बीजेपी की नजर इस वक्त उस जगह पर है जहां से बीजेपी ने पिछले चुनाव में एक भी सीट हासिल नहीं की थी। कर्नाटक विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह शुक्रवार को से पुराने मैसूर क्षेत्र का दौरा करेंगे जहां पिछले चुनाव में उनकी पार्टी एक सीट भी नहीं जीत सकी थी। अपनी ‘कर्नाटक जागृति यात्रा’ के तहत शाह 30 और 31 मार्च को मैसूर, चामराजनगर, मांड्या और रामानागर जिलों का दौरा करेंगे। इन चार जिलों में कुल 26 विधानसभा सीटें आती हैं। बीजेपी 2013 के विधानसभा चुनाव में एक भी सीट नहीं जीत पाई थी।

बता दें कि मुख्यमंत्री और राज्य जदएस प्रमुख एचडी कुमारस्वामी और वरिष्ठ मंत्री डी के शिवकुमार का इस क्षेत्र में काफी असर माना जाता है। दूसरी तरफ, राज परिवार के उत्तराधिकारी यदुवीर कृष्णदत्ता चामराज वाडियार ने राजनीति में आने की अटकलों को खारिज किया है। उन्होंने कहा कि उन्हें शाह की राज परिवार की मुलाकात के बारे में मीडिया से पता चला। उन्होंने कहा कि मुझे यह सूचना मीडिया से मिली है। मैं इस बारे में कुछ नहीं कह सकता।

वहीं उन्होंने कहा कि मैं कई बार कह चुका हूं कि राजनीति में मेरी कोई दिलचस्पी नहीं है। किसी पार्टी में शामिल होने की कोई संभावना नहीं है। वहीं टिप्पणिया अमित शाह इस क्षेत्र में लिंगायत समुदाय के प्रमुख धार्मिक स्थल सुत्तूर मठ का भी दौरा करेंगे। वह गणपति सच्चिानंद आश्रम भी जाएंगे। हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस क्षेत्र का दो दिनों के लिए दौरा किया था। मुख्यमंत्री सिद्धरमैया भी दो अप्रैल तक मैसूरू में चुनाव प्रचार करेंगे।