कानपुर सड़क हादसाः अब तक 17 लोगों की मौत, CM और PMO ने किया आर्थिक मदद का ऐलान

कानपुरः मंगलवार की रात कुछ लोगों के लिए अमंगलकारी साबित हुई। कानपुर-इटावा हाईवे पर सचेंडी थाने के पास एक बेकाबू बस गतल दिशा से आ रही टेंपो को रौंदती हुई गड्डे में पलट गई। ये पूरी घटना गदनखेड़ा गांव के सामने हुई। बता दें कि दोनों गाड़ियों की क्षमता से अधिक सवारियां भरी हुईं थी।

घायलों को पास के हॉस्पिटलों में भर्ती कराया गया है।

मंगलवार की रात करीब सवा बजे हुए इस हादसे में अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी हैं, जबकि 18 से अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं। इन घायलों में चार की हालत नाजुक बताई जा रही है। वहीं, हादसे के बाद बस चालक और कंडक्टर दोनों फरार हो गए।

पेट्रोल भराने के समय ही बस चालक ने पी ली थी शराब

कल्पना ट्रैवल्स की 42 सीटों वाली बस 120 यात्रियों को लेकर अहमदाबाद के लिए शाम साढ़े 5 बजे फजलगंज से रवाना हुई थी। यात्रियों ने बताया, बस चालक ने विजय नगर स्थित पेट्रोल पंप पर डीजल भराते वक्त ही शराब पी ली थी। कई यात्रियों ने इसका विरोध भी किया और ट्रैवल्स कंपनी के नंबर पर फोन करके जानकारी दी। कंपनी वालों ने परेशान न होने की बात कहकर बात टाल दी। कुछ किलोमीटर चलने के बाद इटावा की ओर सचेंडी थाने से डेढ़ किलोमीटर आगे गदनखेड़ा गांव के पास अचानक बस बेकाबू हो गई और सामने से आ रहे सवारियों से भरे टेंपों में भिड़ गई। बस की टक्कर लगने से टेंपो फुटपाथ की ओर जाकर पलट गया और उसके परखच्चे उड़ गए। वहीं, टक्कर लगने के बाद बस भी अनियंत्रित होकर हाईवे किनारे गड्ढे में जाकर पलट गई।

Died कानपुर सड़क हादसाः अब तक 17 लोगों की मौत, CM और PMO ने किया आर्थिक मदद का ऐलान

Died 1 कानपुर सड़क हादसाः अब तक 17 लोगों की मौत, CM और PMO ने किया आर्थिक मदद का ऐलान

दुर्घटना की सूटना मिलते ही आईजी मोहित अग्रवाल, एसपी अष्टभुजा प्रसाद सहित कई आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए। सभी घायलों को इलाज के लिए हैलट अस्पताल भेजा गया। जहां लाला लाजपत अस्पताल में लाए गए 21 लोगों में से 17 लोगों की मौत हो गई, जबकि 4 लोगों की हालत नाजुक बताई जा रही है।

नाइट शिफ्ट में काम करने जा रहे थे टेंपों में सवार यात्री

कानपुर आइजी मोहित ने जानकारी देते हुए बताया कि इस हादसे में ज्यादातर मरने वालो टेंपो सवार यात्रियों की संख्या हैं। उस टेंपों में करीब 21 यात्री सवार थे। ये सभी यात्री एक बिस्कुट कंपनी के कर्मचारी थे और नाइट शिफ्ट में काम करने जा रहे थे। वहीं, टेंपो में सवार यात्रियों के बारे में कहा जा रहा है कि ये सभी ईश्वरीगंज और लाल्हेपुर गांव के रहने वाले हैं।

सीएम और पीएम ने जताया दुख

इस बड़े हादसे पर अपना शोक व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घायलों को उचित इलाज का निर्देश दिया है और साथ ही मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता राशि देने की भी बात कही है।

वहीं प्रधानमंत्री कार्यालय के ओर से भी प्रधानमंत्री राहत कोष से मृतक आश्रितों को दो-दो लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने का ऐलान किया गया है।

यूपी की राजनीति में बड़ी उठापटक, यह बड़ा कांग्रेस नेता आज बीजेपी में हो सकता है शामिल

Previous article

सीएम योगी ने की पहल, इन जिलों के 4 स्वास्थ्य केंद्रों को लिया गोद

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured