Breaking News featured यूपी राज्य

जितेंद्र मामले में राजनीति तेज, राज बोले पहले हो वर्दी वाले गुंडों का एनकाउंटर

Raj Babbar Family Tree Wife Son Daughter Father Name Biography Photos जितेंद्र मामले में राजनीति तेज, राज बोले पहले हो वर्दी वाले गुंडों का एनकाउंटर

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के नोएडा में फर्जी एनकाउंटर करके जिम ट्रेनर जितेंद्र यादव को गोली मारने के मामले ने राजनीतिक रंग ले लिया है। इस मामले को लेकर नोएडा पहुंचे कांग्रेस नेता राज बब्बर ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि यूपी की सत्ता पर काबिज योगी सरकार सिर्फ गोली चलाने का काम कर रही है, लेकिन कुछ काम नहीं कर रही है। उन्होंने यूपी की कानून व्यवस्था को लेकर कहा कि प्रदेश में खाकी वर्दी वाले बदमाश घूम रहे हैं, पहले इनका एनकाउंटर करना चाहिए। उन्होंने कहा कि योगी सरकार जनता में अपनी अच्छी इमेज बनाने के लिए फर्जी एनकाउंटर करा रही है। राज बब्बर यहां जितेंद्र के परिवार से मुलाकात करने पहुंचे थे। Raj Babbar Family Tree Wife Son Daughter Father Name Biography Photos जितेंद्र मामले में राजनीति तेज, राज बोले पहले हो वर्दी वाले गुंडों का एनकाउंटर

वहीं पुलिस की गोली का शिकार जितेंद्र यादव के परिवार वालों का कहना है कि यूपी पुलिस ने एक फेक एनकाउंटर में उसे गोली मारी है। जितेंद्र को गोली मारने के मुद्दे पर उन्होंने कहा चार पुलिसकर्मी नहीं, बल्कि पूरा थाना सस्पेंड होना चाहिए। अधिकारियों की मिलीभगत के बगैर यह नहीं हो सकता। इस मौके पर महेश शर्मा का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि एक मंत्री कहकर गए कि निष्पक्ष कार्रवाई होगी। मुझे नहीं लगता। वह पुलिस अधिकारी जेल में रह चुका है। उसको प्रोमोशन दिया गया। ऐसे को मौत की सज़ा होनी चाहिए। राज बब्बर ने कहा कि परिजन बता रहे हैं, पुलिस वाले उस गाड़ी को भी उठा ले गए, जिसमें पीड़ित सवार थे। उसका बोर्ड बदल सकते हैं। निष्पक्ष जांच कैसे होगी।

 

 

गौरतलब है कि शनिवार की रात को नोएडा के सेक्टर 122 के पास जितेंद्र यादव को गोली मारी गई थी।  यूपी पुलिस ने ट्वीट किया है कि इस बारे में नोएडा पुलिस से जानकारी ली जा रही है। नोएडा के एसएसपी के मुताबिक ये एनकाउंटर का मामला नहीं है। मामले में एक सब-इंस्पेक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया गया है और उसे गिरफ्तार किया गया है। मामले में कुल चार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है। हालांकि, पुलिस टीम की तरफ से जितेंद्र को गोली मारने के मामले में पुलिस और परिजन के मत अलग-अलग हैं। परिजन इसे पूरी तरह से फर्जी मुठभेड़ बता रहे हैं, जबकि, पुलिस आपसी विवाद बता रही है।

 

Related posts

‘राष्ट्र को एक सूत्र, एक व्यवस्था में बांधने का नाम है जीएसटी: बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला

Rani Naqvi

Rajasthan: विश्व हिंदू परिषद नेता सतवीर सहारण पर जानलेवा हमला, माहौल गर्माया

Rahul

गुजरात चुनाव: चुनाव आयोग का आदेश छह मतदान केंद्रों पर दोबारा कराई जाए वोटिंग

Breaking News