Naresh upadhyay मानव की गरिमा बनाये रखने के लिए एक-दूसरे का सम्मान जरूरी: विजय कश्यप

मेरठ। अन्तर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस के अवसर पर चौ.चरण सिंह विश्वविद्यालय के बृहस्पति भवन में संगोष्ठी एवं अनुराग स्मृति सम्मान समारोह आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि प्रदेश के राजस्व एवं बाढ़ नियंत्रण राज्य मंत्री विजय कश्यप, राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष डा.लोकेश प्रजापति, मेरठ दक्षिण के विधायक डा.सोमेन्द्र तोमर, जिला पंचायत अध्यक्ष कुलविन्दर सिंह, भाजपा के पूर्व महानगर अध्यक्ष करूणेश नन्दन गर्ग, वरिष्ठ कवि एवं इतिहासकार डा. किरण सिंह, डा. योगेन्द्र शर्मा, योगी मुनीश कुमार एवं संयोजक नरेश उपाध्याय ने दीप प्रज्ज्वलित करके किया।

Naresh upadhyay 3 मानव की गरिमा बनाये रखने के लिए एक-दूसरे का सम्मान जरूरी: विजय कश्यप

मुख्य अतिथि प्रदेश के राजस्व एवं बाढ़ नियंत्रण राज्यमंत्री विजय कश्यप ने कहा कि हिन्दू जीवन दर्शन में इस बात का उल्लेख मिलता है कि प्रत्येक मनुष्य दूसरे मनुष्य का ध्यान रखे और कोई ऐसा कार्य न करे, जो किसी को शारीरिक अथवा मानसिक पीड़ा पहुंचाता हो। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना की गयी और इसके चार्टर में मानव अधिकारों के संरक्षण का उल्लेख किया गया। मानव की गरिमा तभी बनी रह सकती है जब हम उसका सम्मान करेंगे।

राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष डा.लोकेश प्रजापति ने कहा कि मानवीय विकास के लिए मानवाधिकारों का बहुत महत्व है। अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर इसके लिए प्रयास किये गये कि मानवाधिकारों का संरक्षण किया जा सके और उसी परिपेक्ष्य में भारत में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की स्थापना की गयी। जिससे कोई पीड़ित व्यक्ति अथवा उसकी और से कोई अन्य व्यक्ति मानवाधिकार उल्लंघन के मामले की शिकायत दर्ज कर सकें। जिला पंचायत अध्यक्ष कुलविन्दर सिंह ने कहा कि यह हम सब का कर्तव्य है कि सभी का सम्मान करें।

संगोष्ठी में बीज वक्तव्य देते हुए चौ. चरण सिंह विश्वविद्यालय के विधि विभाग के प्रोफेसर डा. योगेन्द्र शर्मा ने कहा कि मानव अधिकार मानव के सपूर्ण विकास के लिए नितांत आवश्यक है। भारतीय जीवन दर्शन में उल्लेख मिलता है कि प्रत्येक मानव का सम्मान करना और उसकी गरिमा बनाये रखना। इंग्लैण्ड के सम्राट जॉन ने 15 जून, 1215 को मैग्ना कार्टा द्वारा इन अधिकारों को प्रदान किया गया। 1789 में फ्रांसीसी घोषणा पत्र द्वारा मानवाधिकार प्रदान किये गये। तत्पश्चात् अनेक देशों में जिनमें 1809 में स्वीडन, 1812 में स्पेन, 1813 में बेलजियम, 1814 में नार्वे, 1849 में डेनमार्क और 1874 में स्विट्जरलैण्ड में इस संबंध में प्रावधान बनाये गये। भारत के संविधान की उद्देशिका में व्यक्ति की गरिमा और अवसर की समानता उपलब्ध कराने के बारे में कहा गया है। मानवाधिकार की सार्वभौमिक घोषणा में जिन बातों का उल्लेख किया गया है।

उनमें से अनेक अधिकारों को भारत के संविधान में प्रदत्त किया गया है। विशिष्ट अतिथि विधायक डा.सोमेन्द्र तोमर ने कहा कि प्रत्येक मानव के सर्वांगींण विकास के लिए मानवाधिकार बहुत जरूरी है। मानवाधिकारों का संरक्षण करते हुए हमें अपने कर्तव्य का पालन भी करना चाहिए। प्रत्येक मानव दूसरे के अधिकारों का सम्मान करे और अपना निर्धारित कर्तव्य करे तो मानवाधिकार उल्लंघन नहीं होगा। करूणेश नन्दन गर्ग ने कहा कि हमारे वेदों एवं अन्य धार्मिक ग्रंथों में सभी के कल्याण की बात कही गयी है। जब हम सभी के कल्याण के लिए विचार करते हैं तो फिर मानवाधिकारों का उल्लंघन होने की संभावना नहीं है।

समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्धि हासिल करने वाले लोगों को सम्मानित भी किया गया। इनमें राज्य पुरस्कार पाने वाली शिक्षिका श्रीमती यतिका पुंडीर, डा.कौसर जहां, सुमन उपाध्याय, महिला नेत्री पूजा बंसल, वर्षा कौशिक, समाजसेवी रविन्द्र गुर्जर, स्केटिंग रोल बॉल चैंपियन कु. इशिका शर्मा, केडी फाउंडेशन की अध्यक्ष हिना रस्तोगी, ममता त्यागी, वरिष्ठ पत्रकार डा.कुलदीप त्यागी, विवेक राव, राजकुमार सैनी, मेरठ समाचार के प्रधान संपादक जगमाल उपाध्याय, रजत कुमार, पूर्व प्रधानाचार्य दुलीचंद उपाध्याय, जहा आदि को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता डा. किरण सिंह ने एवं संचालन जगमाल उपाध्याय ने किया। इस मौके पर सभी ने भारतीय जनता पार्टी के पश्चिमी उत्तर प्रदेश, पिछडा वर्ग मोर्चा के महामंत्री योगी मुनीश कुमार के दिवंगत पुत्र अनुराग कुमार को श्रद्धांजलि दी। मुनीश कुमार ने सभी आगंतुकों का आभा व्यक्त किया।

कार्यक्रम में संयोजक नरेश उपाध्याय, पंकज कतीरा, संजीव शर्मा, आलोक सिसौदिया, मा. दुलीचन्द उपाध्याय, राजपाल उपाध्याय, कालीचरण उपाध्याय, नरेंद्र गौड़, गजेंद्र उपाध्याय, नीटू गांवड़ी, योगी बिजेंद्र कुमार, बिंदू सराफ, डा.विजय उपाध्याय, करण सिंह सैनी, चंद्रपाल सैनी, जसवंत गुर्जर, रविश अग्रवाल, संजीव, संदीप प्रधान, मनोज वर्मा, नीरज कौशिक सहित अनेक लोग उपस्थित रहे।

समाजसेवा के कार्य करेगा अनुराग फाउंडेशन

मेरठ। अनुराग स्मृति सम्मान समारोह में अनुराग फाउंडेशन की घोषणा की गई। योगी मुनीश कुमार ने बताया कि अनुराग फाउंडेशन शिक्षा, स्वास्थ्य, समाजसेवा, पर्यावरण और साहित्य के क्षेत्र में कार्य करेगा। अनुराग के अधूरे सपने पूरे करने के लिए अनुराग फाउंडेशन का गठन किया गया है।

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

सीएम रावत ने की नई दिल्ली में केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री डा. महेन्द्र नाथ पाण्डेय से भेंट

Previous article

अमेरिका के न्यू जर्सी में फायरिंग, पुलिस अधिकारी सहित छ: को मार डाला, दो गिरफ्तार

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in #Meerut