हैदराबाद में बोल ईरानी राष्ट्रपति, मुस्लिम समुदाय को होना होगा एकजुट

हैदराबाद में बोल ईरानी राष्ट्रपति, मुस्लिम समुदाय को होना होगा एकजुट

हैदराबाद। भारत की तीन दिवसीय यात्रा पर आए ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी का स्वागत हैदराबाद एयरपोर्ट पर तेलंगाना के राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हा ने किया। ईरानी राष्ट्रपति की भारत यात्रा पर पीएम मोदी से आपसी हित और क्षेत्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर भी चर्चा करेंगे। वहीं इससे पहले हैदराबाद पहुंचे रूहानी ने वहां की प्रसिद्ध मक्का मस्जिद में जुमे की नमाज अदा की और मुस्लिम बुद्धिजीवियों, विद्वानों और धर्मगुरूओं से मुलाकात की। रूहानी ने मुलाकात के बाद अपने संबोधन में कहा कि मुस्लिमों को सांप्रदायित मतभेदों से ऊपर उठकर इस्लाम के शुत्रुओं के खिलाफ एकजूट होना होगा।

रूहानी ने कहा कि भारत धर्म, विचार और अवसरों के विविध स्कूलों का जीता-जागता म्यूजियम है। हम यहां मंदिरों के साथ पूजा और शांति के दूसरे स्थानों को एक साथ देखते हैं। उन्होंने कहा कि ईरान मुस्लिम देशों के साथ अपने अच्छे संबंध चाहता है और उसे भारत के साथ भी अपने रिश्ते मजबूत करने हैं।  रूहानी आज शाम दिल्ली के लिए रवाना होंगे जहां वे शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करेंगे। मिली जानकारी के मुताबिक इस दौरान रूहानी चाबहार बदरगाह की चाबी भारत को सौंप सकते हैं।

गौरतलब है कि भारत और ईरान के बीच मजबूत आर्थिक और वाणिज्यिक संबंध है। अब भारत अपनी वेस्ट एशिया पॉलिसी के तहत ईरान को अहम साथी बनाना चाहता है। 2016 में पीएम मोदी द्विपक्षीय यात्रा पर ईरान गए थे जहां दोनों देशों के बीच तब एक दर्जन समझौते हुए थे। त्रिपक्षीय चाबहार समझौते पर भारत, ईरान व अफगानिस्तान ने दस्तखत किए थे। यह बंदरगाह सामरिक दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे पाकिस्तान को बायपास कर तीनों देश जुड़ जाएंगे।