February 7, 2023 12:02 pm
Breaking News देश पंजाब

गोलीकांड के सबूतों से जांच-कर्ताओं ने किया खिलवाड़, कई और भी छेड़छाड़ संभव

shoot with gun गोलीकांड के सबूतों से जांच-कर्ताओं ने किया खिलवाड़, कई और भी छेड़छाड़ संभव

बठिंडा। बहुचर्चित बहबलकलां और कोटकपूरा गोलीकांड में आखिर हुआ वहीं जिसकी उम्मीद थी यानी जांच अधिकारियों ने सबूतों में भी हेरफेर किया। फायरिंग में इस्तेमाल हथियार अगले दिन मोगा पुलिस कोत में जमा करवाकर नए इश्यू करवाए गए यही नहीं पोस्टमार्टम में शवों में गोलियों के निशान ऊपर से नीचे की तरफ थे यानी बैठे लोगों को गोलियां मारीं गई थी, फायरिंग स्पॉट भी बदला गया।
पोस्टमार्टम में मृतकों के शवों से निकली गोलियां तक टेंपर की गईं ताकि पता न चल सके कि गाेली किस राइफल से चली? मगर एसआईटी की जांच में मृतकों के पोस्टमार्टम में उनको लगी गोलियों की दिशा, जमा करवाए हथियारों की चालू रजिस्टरों की बजाए नए पर एंट्री और जिप्सी पर हुई फायरिंग की फाॅरेंसिक लैब की रिपोर्ट ने पूरी कहानी पलट दी।
चार्जशीट के मुताबिक पुलिस फायरिंग में घायल बेअंत सिंह के शरीर से निकला जैकेट बुलेट 7.62 एके 47 राइफल का है। पुलिस कर्मियों की एके 47 से मिलान के लिए लैब में भेजा तो डीफोर्मड और डैमेज बुलेट की रिपोर्ट मिली। बुलेट मैच नहीं हो पाया। इसकी अब दोबारा जांच के लिए 18 जनवरी 2019 को अदालत से स्वीकृति ली गई है।
बहबलकलां और कोटकपूरा गोलीकांड में पुलिस अफसरों को बचाने के लिए सेल्फ डिफेंस की झूठी कहानी रची गई। इसमें इस्तेमाल जिप्सी व पुलिसकर्मियों ने खुद कहानी की पोल खोल दी। एसआईटी द्वारा बहबलकलां गोलीकांड में 24 अप्रैल व कोटकपूरा गोलीकांड में 28 मई को फाइल चार्जशीट से खुलासा हुआ है। मामले में अगली सुनवाई 12 जुलाई को सुनवाई होगी।
जिस जिप्सी पर फायरिंग हुई उसके ड्राइवर गुरनाम सिंह ने कोर्ट में बयान दिया कि इंस्पेक्टर प्रदीप जिप्सी को कोटकपूरा से फरीदकोट लेकर गया। शाम 7 बजे एक कोठी में लेकर गया। तब तक कोई फायर नहीं था। कोठी में 12 बोर के फायर मार सेल्फ डिफेंस की कहानी गढ़ी। 2 दिन जिप्सी एसएसपी की कोठी में रही। 16 अक्टूबर को इंस्पेक्टर प्रदीप ने कोटकपूरा थाने में लगाया। एसएचओ अमरजीत ने इसे 14 अक्टूबर को थाने में जब्त और एसआई दलजीत सिंह ने मालखाने में शाे किया।

Related posts

प्रदूषण को लेकर हरियाणा के सीएम से मिलेंगे केजरिवाल, पंजाब के सीएम को भी न्योता

Breaking News

चार माह की जगह दो महीने लगेगा कुंभ मेला, जानें कौनसे होंगे 4 शाही स्नान

Trinath Mishra

लालकृष्ण आडवाणी की बेटी के पार्टी में शामिल होने से कांग्रेस की हो सकती है बल्ले-बल्ले

Rani Naqvi