January 29, 2022 12:29 pm
featured दुनिया देश

अमेरिका को फिर तालिबान ने दी चेतावनी, कहा- पढ़े-लिखे लोगों को देश छोड़ने के लिए न उकसाए

2021 8largeimg 1534065349 अमेरिका को फिर तालिबान ने दी चेतावनी, कहा- पढ़े-लिखे लोगों को देश छोड़ने के लिए न उकसाए

तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद तालिबान खुद को दुनिया का आका समझने लगा है। तालिबान ने एक बार फिर अमेरिका को चेतावनी देते हुए पढ़े-लिखे नागरिकों को वहां से न ले जाने को कहा है।

अमेरिका को फिर तालिबान ने दी चेतावनी

तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद हालात हर दिन हर पल बिगड़ रहे हैं। काबुल एयरपोर्ट पर अमेरिकी सैनिक अपना कब्जा जमाए हुए हैं। अमेरिका और बाकी देश अपने नागरिकों को अफगानिस्तान से रेस्क्यू करने में लगे हुए हैं। अमेरिका के इस रेस्क्यू ऑपरेशन से तालिबान सख्त नाराज हो गया है। अब नौबत यहां तक आ गई है कि तालिबान लगातार अमेरिका को आंख दिखा रहा है। तालिबान की ओर से एक बार फिर अमेरिका को चेतावनी दी गई है कि वो रेस्क्यू ऑपरेशन अब बंद कर दे।

‘पढ़े लिखे लोगों को देश छोड़ने के लिए न उकसाए अमेरिका’

तालिबान ने कहा कि अमेरिका अफगानिस्तान के पढ़े-लिखे लोगों को देश छोड़ने के लिए न उकसाएं। एएफपी ने तालिबान के प्रवक्ता का हवाला दिया है, जिसमें यह कहा गया है कि तालिबान के प्रवक्ता जबिहुल्ला मुजाहिद ने कहा कि अमेरिका पढ़े लिखे अफगानिस्तान लोगों को न लेकर जाएं। अमेरिका लोगों का रेस्क्यू अगस्त के अंत तक पूरा करे।

बाइडेन ने दिए थे समय सीमा बढ़ाने के संकेत

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा था कि 31 अगस्त तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर अमेरिका नागरिकों का रेस्क्यू किया जाएगा। वहीं बाइडेन ने ये भी संकेत दिए थे कि अगर अगर 31 अगस्त तक सभी नागरिकों का रेस्क्यू नहीं हुआ तो रेस्क्यू ऑपरेशान आगे बढ़ाया जा सकता है। लेकिन अब तालिबान को अमेरिका के इस रवैये से मिर्ची लग गई है। तालिबान के एक प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका को 31 अगस्त तक अफगानिस्तान से लोगों को निकालने का काम पूरा कर लेना चाहिए और यह समय सीमा नहीं बढ़ायी जाएगी।

‘समय सीमा बढ़ाए जाने की बात नहीं स्वीकारेंगे’

अमेरिका अभी काबूल एयरपोर्ट से लगातार अपने नागरिकों का रेस्क्यू कर रहा है। लोग तालिबान के डर से अफगानिस्तान से अपनी जान बचाकर भाग रहे हैं। ऐसे में अब अफगानिस्तान छोड़कर जाने वाले लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिससे तालिबान को मिर्ची लगनी शुरू हो गई है। तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा कि उनका समूह समय सीमा बढ़ाए जाने की बात नहीं स्वीकार करेगा। मुजाहिद ने कहा कि देश में जनजीवन सामान्य हो रहा है लेकिन हवाईअड्डे पर अव्यवस्था समस्या बनी हुई है। कई अफगान देश पर तालिबान का कब्जा होने के बाद बाहर भागने के लिए व्यग्र हैं।

पहले भी चेतावनी दे चुका है तालिबान

तालिबान अमेरिका को पहले भी रेस्क्यू ऑपरेशन बंद करने के चेतावनी दे चुका है। अमेरिका को आंख दिखाते हुए तिलाबान संगठन ने कहा था कि अगर अमेरिका ने जल्द ही अपने सैनिकों को काबुल एयरपोर्ट से वापस नहीं बुलाया तो अंजाम भुगतना पड़ेगा। जिसके बाद अमेरिका की इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई थी। हालांकि अब फिर से तालिबान की ओर से ये बयान दिया गया है। अब देखना ये होगा की अमेरिका की ओर से तालिबान की इस धमकी पर क्या कुछ प्रतिक्रिया दी जाती है।

 

 

Related posts

राष्ट्रव्यापी कृत्रिम गर्भाधान योजना का दूसरा चरण 1 अगस्त से होगा शुरू

Rozy Ali

कश्मीर पर खयाली पुलाव न पकाएं शरीफ: पाकिस्तानी अखबार

bharatkhabar

‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में पीएम मोदी के भाषण पर इस तरह भड़की महबूबा मुफ्ती

Rani Naqvi