January 23, 2022 4:53 pm
featured दुनिया

UKARINE में तनाव, अमेरिका की रूस को कड़ी चेतावनी, BIDEN-PUTIN में दो घंटे हुई बातचीत

210709220100 biden putin super tease UKARINE में तनाव, अमेरिका की रूस को कड़ी चेतावनी, BIDEN-PUTIN में दो घंटे हुई बातचीत

यूक्रेन सीमा पर चल रहे तनाव के बीच अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन और रूस के उनके समकक्ष व्लादिमीर पुतिन के बीच मंगलवार को दो घंटे तक वीडियो कॉल के जरिए बातचीत हुई।

यह भी पढ़े

तेजस्वी यादव बनेंगे हरियाणा के दामाद ! Engagement की तैयारियां शुरू

इसमें अमेरिका ने रूस को स्पष्ट चेतावनी दी कि अगर उसने यूक्रेन पर आक्रमण किया तो उस पर प्रतिबंध लगाए जाएंगे और रूसी अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान पहुंचेगा। यह अहम बातचीत ऐसे समय पर हुई है जब रूस ने हजारों की तादाद में सैनिक और अत्‍याधुनिक हथियार यूक्रेन की सीमा पर तैनात किए हैं।

रूस की ओर से यूक्रेन पर हमला करने की आशंका

यूक्रेन सीमा पर रूस के सैन्‍य जमावड़े के बाद दोनों नेताओं के बीच यह  अहम बातचीत ऐसे समय में हुई है जब अमेरिका और पश्चिम देशों में रूस द्वारा यूक्रेन पर हमला करने की आशंका को लेकर चिंता बढ़ रही है। पुतिन इस बैठक में बाइडन से यह गारंटी चाहते थे कि नाटो सैन्य गठबंधन यूक्रेन समेत अन्य जगहों पर अपना विस्तार नहीं करेगा। यूक्रेन के सवाल पर तनाव कम करने की अभी कोई गुंजाइश नहीं दिखायी दी और अमेरिका ने कूटनीति और तनाव कम करने की आवश्यकता पर जोर दिया तथा रूस को आक्रमण के गंभीर परिणाम भुगतने की कड़ी चेतावनियां दी।

यूक्रेन को अतिरिक्त रक्षात्मक सामान मुहैया कराएंगे

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जैक सुलिवन ने दोनों नेताओं के बीच बातचीत के बाद कहा कि बाइडन ने ‘राष्ट्रपति पुतिन को साफ तौर पर कहा कि अगर रूस, यूक्रेन पर आक्रमण करता है तो अमेरिका और हमारे यूरोपीय सहयोगी देश सख्त आर्थिक पाबंदियों के साथ प्रतिक्रिया देंगे। उन्होंने कहा कि बाइडन ने कहा कि तनाव बढ़ने की स्थिति में अमेरिका ‘यूक्रेन को अतिरिक्त रक्षात्मक सामान मुहैया कराएगा और हम पूर्वी सीमा पर अपने नाटो सहयोगियों को अतिरिक्त क्षमताओं के साथ मजबूत करेंगे।’

रूस और जर्मनी विवादित पाइपलाइन प्रोजेक्ट भी खतरे

अमेरिका की एक शीर्ष दूत विक्टोरिया नुलैंड ने कहा कि यूक्रेन पर हमला करने से रूस और जर्मनी के बीच एक विवादित पाइपलाइन भी खतरे में पड़ जाएगी। उन्होंने मंगलवार को सीनेट की विदेश संबंधों की समिति को बताया कि अगर रूस हमला करता है ‘हम उम्मीद करते हैं कि पाइपलाइन निलंबित कर दी जाएगी।

‘रूसी सीमा के समीप अपनी सैन्य क्षमता का विस्तार कर रहा नाटो’

उन्होंने राष्ट्रपतियों के वीडियो कांफ्रेंस को ‘स्पष्ट और व्यावसायिक उद्देश्यों’ वाला बताया और कहा कि दोनों नेताओं ने कई मौकों पर एक-दूसरे के साथ मजाकिया अंदाज में भी बातचीत की। वाइट हाउस में सुलिवन ने कहा, ‘यह एक उपयोगी बैठक थी।’ बता दें कि रूस ने यूक्रेन सीमा के समीप हजारों सैनिकों को तैनात किया है। यूक्रेन के अधिकारियों ने रूस पर युद्धग्रस्त पूर्वी यूक्रेन में टैंकों और स्नाइपरों को भेजकर संकट को और बढ़ाने का आरोप लगाया।

रूस पर जिम्मेदारी तय करना गलत

क्रेमलिन ने कहा, ‘पुतिन ने इस पर जोर दिया कि रूस पर जिम्मेदारी तय करना गलत है क्योंकि नाटो यूक्रेन सीमा पर अपनी मौजूदगी बढ़ाने की खतरनाक कोशिशें कर रहा है और रूसी सीमा के समीप अपनी सैन्य क्षमता का विस्तार कर रहा है।’ बाइडन ने वाइट हाउस के स्थिति कक्ष से और पुतिन ने सोची में अपने आवास से बातचीत की, जो बाइडन के कार्यकाल की महत्वपूर्ण बैठकों में से एक है और ऐसे वक्त में हुई है जब अमेरिकी खुफिया अधिकारियों ने बताया कि रूस ने यूक्रेन सीमा के समीप 70,000 से अधिक सैनिकों को भेजा है और उसने अगले साल की शुरुआत में संभावित हमले की तैयारियां कर ली है।

सुलिवन ने कहा कि बाइडन और पुतिन ने ‘ईरान मुद्दे पर सार्थक बातचीत’ की और इसे ऐसा क्षेत्र बताया जिस पर दोनों देश सहयोग कर सकते हैं।

 

 

 

 

Related posts

इस वजह से दी जाती है बकरीद पर बकरे की कुर्बानी

mohini kushwaha

लखनऊ: महंत नृत्यगोपाल दास की सेहत में सुधार, हालचाल जानने मेदांता पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डॉक्टरों से ली महंत के स्वास्थ्य की जानकारी  

Saurabh

शिवसेना ने फिर कसा बीजेपी पर तंज

Breaking News