featured दुनिया देश

तालिबान का खूनी खेल जारी, पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरूल्ला सालेह के बड़े भाई की हत्या

Taliban min 1 तालिबान का खूनी खेल जारी, पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरूल्ला सालेह के बड़े भाई की हत्या

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद से ही वहां तालिबान के लड़ाकों का खूनी खेल जारी है। इसी बीच मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अफगानिस्तान के पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरूल्ला सालेह के बड़े भाई की तालिबान ने हत्या कर दी है।

पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरूल्ला सालेह के बड़े भाई की हत्या

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद से ही वहां तालिबान के लड़ाकों का खूनी खेल जारी है। इसी बीच मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अफगानिस्तान के पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरूल्ला सालेह के बड़े भाई की तालिबान ने हत्या कर दी है। रिपोट्स के मुताबिक लड़ाई के दौरान अमरूल्ला सालेह के बड़े भाई रोहिल्ला सालेह की तालिबान ने बर्बरता से हत्या कर दी। वहीं सालेह के अमरूल्ला के बारे में बताया जा रहा है कि वो तजाकिस्तान में हैं।

तालिबान ने किया सालेह के घर पर कब्जा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तालिबान के लड़ाकों ने सालेह के घर पर कब्जा कर लिया है। हालांकि अभी तक तालिबान की ओर से अमरूल्ला के भाई की मौत की खबर की अधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।  वहीं मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि तालिबान के एक लड़ाके की उसी जगह की एक तस्वीर सामने आई है, जहां से सालेह ने एक वीडियो साझा किया था।

तालिबान कर चुका है सरकार का गठन

बता दें कि तालिबान अब पूरे अफगानिस्तान पर कब्जे का दावा कर चुका है। तालिबान ने नई सरकार का गठन भी कर दिया है। हालांकि अभी भी पंजशीर के नेता पूरे अफगानिस्तान के तालिबान के कब्जे में न होने का दावा ठोक रहे हैं और जंग जारी रहने की बात कह रहे हैं। रिसिस्टेंस फ्रंट ने अभी तक अपनी हार नहीं मानी थी।

15 अग्सत को काबुल पर किया था कब्जा

गौरतलब है कि 15 अगस्त को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जा करने के बाद से तालिबान वहां की आवाम पर जुल्म ढा रहा है। तालिबान की ओर से महिलाओं पर अत्याचार की क्रूर तस्वीरें सामने आ रही हैं। ऐसी परिस्थिति में तालिबानी नेता दुनिया से उसे मान्यता देने की मांग कर रहे हैं और शांति बनाए रखने की दुहाई दे रहे हैं। लेकिन तालिबान कथनी और करनी में कितना फर्क है इसका अंदाजा अफगानिस्तान से वायरल हो रहे वीडियो में लगाया जा सकता है।

Related posts

सर्जिकल स्ट्राइक साइडइफेक्ट : खतरे में पड़ी आईएसआई चीफ की कुर्सी

shipra saxena

कल्‍याण सिंह के निधन से बदली PhD परीक्षा की डेट, अब इस तारीख को होगा Exam

Shailendra Singh

AIADMK दोनों धड़ आज हो सकते हैं एक

Pradeep sharma