January 18, 2022 1:03 pm
featured देश यूपी राज्य

बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर सबसे पहले हुआ था कुल्हाड़ी से हमला

bulandshahr बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर सबसे पहले हुआ था कुल्हाड़ी से हमला

बुलंदशहर। बुलंदशहर में गोकशी को लेकर भड़की हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर सबसे पहले कुल्हाड़ी से हमला किया गया था। पुलिस के मुताबिक, सुबोध को गोली मारने से पहले कुल्हाड़ी से हाथ और सिर पर हमला किया गया था। जिसमें उनका अंगूठा भी कट गया था। यह सनसनीखेज खुलासा उस वक्त हुआ जब घटना के मुख्य आरोपी प्रशांत नट से पूछताछ हुई। प्रशांत की गुरुवार की गिरफ्तारी हुई और गुरुवार की शाम को ही घटना की री-क्रिएशन किया गया। बुलंदशहर के सीनियर सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस प्रभाकर चौधरी ने कहा कि बुलंदशहर के स्याना के महाव गांव में गोकशी के आरोप के बाद गांववालों ने सड़क पर पेड़ डालकर बुलंदशहर-गढ़मुक्तेश्वर रोड को जाम कर दिया था।

bulandshahr बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर सबसे पहले हुआ था कुल्हाड़ी से हमला

 

उन्होंने बताया- “इंस्पेक्टर सुबोध सिंह पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और भीड़ को शांत करने की कोशिश की। एक गांववाले जिसकी पहचान चिंगरावटी के कलवा के तौर पर हुई है, उसने कुल्हाड़ी से इंस्पेक्टर पर हमला कर दिया और इसमें उनका अंगूठा कट गया। घायल इंस्पेक्टर ने एक पुलिसवाले की रायफल फौरन ली और हिंसक भीड़ को तितर-बितर करने की कोशिश की। लेकिन, उसने फिर से कुल्हाड़ी से इंस्पेक्टर के सिर पर हमला कर बुरी तरह जख्मी कर दिया।”

एसएसपी ने बताया कि गांववालों ने पुलिसकर्मियों के ऊपर पत्थर भी फेंकने शुरू कर दिया। उन्होंने कहा- “घायल इंस्पेक्टर खुद को बचाने के लिए खुले खेत की तरफ भागे लेकिन भीड़ ने उनका पीछा किया और गोली मार दी। अन्य पुलिसवालों ने भी खुद को बचाने के लिए वहां से भाग खड़े हुए।” कलवा अभी भी फरार है। टैक्सी ड्राईवर नन को इंस्पेक्टर की हत्या के आरोप में गुरूवार को नोएडा से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि नट ने यह मान लिया है कि उसने इंस्पेक्टर को उन्हीं की बंदूक से ही गोली मारी थी। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में कथित गोकशी के बाद हुई हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर गोली चलाने के आरोपी प्रशांत नट को शुक्रवार को सीजेएम कोर्ट में पेश किया गया। अदालत ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। प्रशांत को बृहस्पतिवार को पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) प्रभाकर चौधरी के मुताबिक नट से पूछताछ में यह पता चला है कि स्याना इंस्पेक्टर सिंह पर सबसे पहले एक अन्य आरोपी कलुआ ने कुल्हाड़ी से वार किया था। उन्होंने बताया कि इंस्पेक्टर ने आत्मरक्षा में गोली चलाई, जिसमें एक गोली सुमित नाम के एक युवक को लगी थी, जिससे उसकी मौत हो गई। इसके कुछ देर बाद प्रशांत ने इंस्पेक्टर की पिस्तौल छीनकर उनकी आंख के पास गोली मारी थी, जिससे उनकी मौत हो गई। घटना के दो चश्मदीदों ने भी इंस्पेक्टर को गोली मारने में प्रशांत की पहचान की है।

Related posts

हमीरपुर: पति ने नशे में मां को पीटा, पत्नी और बच्चा फांसी पर झूलते मिले, जानिए क्या मामला

Shailendra Singh

बीएसपी चीफ मायावती ने अखिलेश से ‘रिटर्न गिफ्ट’ सुनिश्चित करने को कहा

Rani Naqvi

देश के साथ-साथ चीन और अमेरिका ने भी माना पीएम मोदी हैं ताकतवर

Vijay Shrer