November 27, 2022 2:16 pm
featured यूपी

इप्‍सेफ ने पूरे देश में एक साथ दी कोविड शहीदों को श्रद्धांजलि

इप्‍सेफ ने पूरे देश में एक साथ दी कोविड शहीदों को श्रद्धांजलि

लखनऊ: इंडियन पब्लिक सर्विस इंप्लाइज फेडरेशन (इप्सेफ) के आवाह्न पर सोमवार को पूरे देश में एक साथ कोविड शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। इप्‍सेफ के साथ राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश ने जिलों की शाखाओं में 1:30 बजे सड़कों से लेकर संस्थानों तक कोविड शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

इप्सेफ के अध्यक्ष बीपी मिश्रा और महामंत्री प्रेमचंद्र ने बताया कि, कोविड शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने का कार्यक्रम भारत के सभी राज्यों में संपन्‍न हुआ है। राजधानी लखनऊ में सिविल अस्पताल में निदेशक डॉ. सुभाष सुंदरियाल, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एस के नंदा ने दीप जलाकर कोविड शहीदों को श्रद्धांजलि दी है।
civil hospital इप्‍सेफ ने पूरे देश में एक साथ दी कोविड शहीदों को श्रद्धांजलि

प्रदेश के सभी विभागों में श्रद्धांजलि कार्यक्रम  

यूपी में कार्यक्रम का आयोजन राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश द्वारा किया गया। महामंत्री अतुल मिश्रा ने बताया कि, प्रदेश के सभी विभागों के कर्मचारियों ने अपने-अपने संस्थानों में श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किया।

प्रदेश के चिकित्सा स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा, परिवार कल्याण, परिवहन, नगर निगम, समाज कल्याण, गन्ना, विकास प्राधिकरण, सिंचाई, वन विभाग, माध्यमिक शिक्षा सहित सभी विभागों के मुख्यालयों पर भी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसके बाद सभी जिला शाखाओं ने ज्ञापन भेजकर प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव से अनुरोध किया कि सभी शहीदों के आश्रितों को नियुक्ति प्रदान की जाए। सरकार द्वारा घोषित 50 लाख रुपए अनुदान राशि एवं उनके अन्य देयक का अति शीघ्र भुगतान किया जाए।

इप्‍सेफ इप्‍सेफ ने पूरे देश में एक साथ दी कोविड शहीदों को श्रद्धांजलि

दो मिनट का मौन रखकर दी श्रद्धांजलि

परिषद के उपाध्यक्ष सुनील यादव ने बताया कि, कार्यालयों के अलावा जो कर्मचारी अपने-अपने घरों पर थे, उन्होंने घरों में अपने परिवार के साथ एक दीप जलाकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। यहां तक कि जो कर्मचारी सड़क पर थे, उन्‍होंने वहीं पर 1:30 बजे खड़े होकर दो मिनट का मौन रखते हुए शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

लखनऊ अध्यक्ष सुभाष श्रीवास्तव ने बताया कि, राजधानी के सभी चिकित्सालयों और कार्यालयों में यह कार्यक्रम संपन्न हुआ। वन विभाग में  राष्ट्रीय अध्यक्ष वी पी मिश्रा, परिषद के अध्यक्ष सुरेश व महामंत्री अतुल मिश्रा, सचिव डॉ. पी के सिंह, वन विभाग फेडरेशन ऑफ फॉरेस्ट के महामंत्री आशीष पाण्डेय, पीयूष मोहन श्रीवास्तव, राम नरेश यादव, उपेन्द्र तिवारी सहित कई पदाधिकारियों की उपस्थिति में में श्रद्धांजलि सभा आयोजित हुई।

इप्‍सेफ 1 इप्‍सेफ ने पूरे देश में एक साथ दी कोविड शहीदों को श्रद्धांजलि

सिविल अस्‍पताल में श्रद्धांजलि कार्यक्रम  

सिविल चिकित्सालय में परिषद के प्रमुख उपाध्यक्ष व फार्मासिस्ट फेडरेशन उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष सुनील यादव के नेतृत्व में कार्यक्रम संपन्न हुआ। सिविल चिकित्सालय में श्रद्धांजलि कार्यक्रम में निदेशक डॉ. सुभाष सुंदरियाल, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एस के नंदा, सिविल अस्पताल वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष महेंद्र पांडेय, संरक्षक अखिलेश श्रीवास्तव, चिकित्सालय के सभी संवर्गों के सैकड़ों अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित रहे।

चिकित्सालय में सैकड़ों कर्मचारियों ने कोविड प्रोटोकॉल का ध्यान रखते हुए सिविल चिकित्सालय के डॉ. रामकृष्ण वरिष्ठ ऑर्थो सर्जन, लैब टेक्नीशियन अशोक कुमार गुप्ता एवं लैब की कर्मचारी रूबीना को श्रद्धांजलि दी। बलरामपुर चिकिसालय में परिषद के जिला अध्यक्ष सुभाष के नेतृत्व व परिषद के संगठन प्रमुख डॉ. के के सचान, प्रवक्ता अशोक कुमार, मीडिया प्रभारी सुनील कुमार, डी पी ए के महामंत्री श्रवण सचान, कोषाध्यक्ष रजत, ऑप्टोमेट्रिस्ट एसो के अध्यक्ष सर्वेश पाटिल, कपिल वर्मा सहित आदि पदाधिकारियों व कर्मचारियों की उपस्थिति में कार्यक्रम सम्पन्न हुआ।

इप्‍सेफ 2 इप्‍सेफ ने पूरे देश में एक साथ दी कोविड शहीदों को श्रद्धांजलि

शहीदों के परिवार के साथ खड़ा है हर कर्मचारी   

महामंत्री अतुल मिश्रा ने बताया कि, यह कार्यक्रम उन पुण्य आत्माओं को शांति प्रदान करेगा, जो अपनी जान पर खेलते हुए इस कोविड-19 संक्रमण के दौरान अपनी सेवा देते रहे हैं और शहीद हो गए हैं। साथ ही यह शहीद के परिवारों के लिए भी उनके दुख में सहभागिता करने का एक कार्यक्रम है। शहीद के परिवार को भी ऐसा प्रतीत होगा कि वह अकेले नहीं है, इस दुख की घड़ी में प्रदेश और देश का कर्मचारी उनके साथ खड़ा है।

सरकार से मृतक आश्रितों के लिए मांग

परिषद ने कहा कि, वर्तमान समय में कर्मचारी जोखिम लेकर कार्य कर रहा है। अपनी जान भी गंवा रहा है। ऐसे समय में कर्मचारियों का सम्मान होना चाहिए एवं कर्मचारियों की मानसिक दशा को बेहतर बनाए रखने के लिए सरकार द्वारा प्रयास किया जाना चाहिए। इसलिए संघ ने मांग की है कि सभी मृतकों के आश्रितों को तत्काल सहायता राशि उपलब्ध करा दी जाए, जिससे उनका परिवार अपना भरण-पोषण सही से कर सके।

Related posts

हार्दिक के बचाव में केजरीवाल, खडसे को बताया देशद्रोही

bharatkhabar

उत्ताखंड: सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, विदेशी युवती समेत सात लोग गिरफ्तार

pratiyush chaubey

सेना में पहली बार महिलाओं की भर्ती, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के जरिए हो रहा आवेदन

bharatkhabar