October 17, 2021 11:56 am
featured Breaking News देश

रियो ओलम्पिक (हॉकी) : भारत ने दर्ज की दूसरी जीत

Hockey रियो ओलम्पिक (हॉकी) : भारत ने दर्ज की दूसरी जीत

रियो डी जेनेरियो। भारतीय हॉकी टीम ने रियो ओलम्पिक के अपने तीसरे पूल मैच में मंगलवार को अर्जेटीना को 2-1 से हरा दिया। यह भारत की इस ओलम्पिक में दूसरी जीत है। ओलम्पिक हॉकी सेंटर के नीले टर्फ पर खेले गए पूल-बी के इस मैच में भारत ने 2009 के बाद अर्जेटीना पर अपनी पहली जीत दर्ज की है।

Hockey

भारत के लिए चिंगलेनसाना कांगूजाम ने आठवें और कोथाजीत सिंह खादानबाम ने 35वें मिनट में गोल किए। अजेर्टीना के लिए एकमात्र गोल गोंजालो पिलाट ने 49वें मिनट में किया। दोनों टीमों ने शुरुआत अच्छी की। भारत की तरफ से सातवें मिनट में आकाशदीप ने गोल करने की कोशिश की लेकिन वह गोल नहीं कर सके। तभी भारत को पेनाल्टी कॉर्नर मिला लेकिन इस बार भी एशियाई चैम्पियन गोल नहीं कर पाए।

आठवें मिनट में भारत के हिस्से एक और पेनाल्टी कॉर्नर आया। इस बार चिंगलेनसाना ने बिना कोई गलती किए गोल किया और भारत को एक गोल से आगे कर दिया।

गोल खाने के बाद दवाब में दिख रही अर्जेटीना ने पहले क्वार्टर के अंत होने से पहले आक्रमण तेज किया और मैनुएल ब्रूनेट ने भारतीय गोलकीपर पी.आर. श्रीजेश की परीक्षा ली। श्रीजेश ने शानदार बचाव करते हुए ब्रूनेट को गोल नहीं करने दिया।

दूसरे क्वार्टर में भी भारतीय टीम ने अर्जेटीना को परेशान किया और उस पर दवाब बनाए रखा। हालांकि मैच के 23वें मिनट में अर्जेटीना ने एक मूव बनाया लेकिन भारतीय कप्तान श्रीजेश एक बार फिर उनके गोल में बाधा बने। इधर भारतीय टीम भी अपनी बढ़त दोगुनी करने की कोशिश कर रही थी, लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाई। इसी बीच भारतीय ड्रेग फ्लिकर हरमनप्रीत सिंह को येलो कार्ड मिला।

तीसरे क्वार्टर में तमाम कोशिशों के बाद आखिरकार भारत ने कोथाजीत के शानदार फील्ड गोल की बदौलत बढ़त दो गुनी कर ली। चौथे क्वार्टर में लग रहा था कि भारतीय टीम बिना किसी दिक्कत के 2-0 से जीत दर्ज कर लेंगे, लेकिन तभी 49वें मिनट में अर्जेटीना को पेनाल्टी कॉर्नर मिला जिसे गोंजालो ने गोल में तब्दील कर स्कोर 1-2 कर दिया।

इसके बाद अर्जेटीना ने आक्रमण तेज किया और 52वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर हासिल किया लेकिन एक बार फिर श्रीजेश उनकी राह में रोड़ा बने। इस पेनाल्टी कॉर्नर के बाद अर्जेटीना को तुरंत एक और पेनाल्टी कॉर्नर मिला लेकिन श्रीजेश ने बताया कि क्यों उन्हें भारत का सर्वश्रेष्ठ गोलकीपर कहा जाता है। उन्होंने अपनी शानदार गोलकीपिंग से अर्जेटीना को जीत से दूर रखा।

अपने दूसरे मैच में भारत को जर्मनी के हाथों 1-2 से हार मिली थी। खेल खत्म होने से तीन सेकेंड पहले क्रिस्टोफर रूर ने गोल करते हुए भारत को हार पर मजबूर किया था। भारत ने आयरलैंड पर जीत के साथ अपने अभियान का शानदार आगाज किया था लेकिन अपने से अपेक्षाकृत कमजोर आयरिश टीम के खिलाफ 3-2 की जीत बहुत प्रभावशाली नहीं थी। भारत के खाते में अब छह अंक हैं तथा एक और जीत उसे क्वार्टर फाइनल में पहुंचा देगी। भारत अपने पूल में दूसरे स्थान पर है।

Related posts

चीन पर बैन लगाने के क्या वाकई में होगा भारत को नुकसान, जानिए क्यों हो रही ये बात?

Mamta Gautam

नहीं थम रहा सीएम और LG बैजल का विवाद ! केजरीवाल ने किए एलजी की रिपोर्ट के दो टुकड़े

Ankit Tripathi

कांग्रेस सांसद की मांग, राष्ट्रगान से ”सिंध” शब्द को हटाकर ”उत्तर पूर्व” जोड़ा जाए

lucknow bureua