भारत की विकास दर चालू वित्त वर्ष के अंत तक 7.3 फीसदी होने की संभावना- विश्व बैंक

भारत की विकास दर चालू वित्त वर्ष के अंत तक 7.3 फीसदी होने की संभावना- विश्व बैंक

नईदिल्ली:विश्व बैंक ने रविवार को कहा कि भारत की विकास दर चालू वित्त वर्ष के अंत तक 7.3 फीसदी के आंकड़े को छू सकती है और अर्थव्यवस्था तेजी पकड़ते हुए अगले दो साल में 7.5 फीसदी की विकास दर तक पहुंच सकती है। वैश्विक कर्जदाता ने दक्षिण एशिया को लेकर जारी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था नोटबंदी और वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू करने से आए अस्थायी गतिरोध से उबरती दिख रही है।

 

भारत की विकास दर चालू वित्त वर्ष के अंत तक 7.3 फीसदी होने की संभावना- विश्व बैंक

 

ये भी पढें:

 

उत्तराखंड:पीएम मोदी ने इन्वेस्टर समिट 2018 को संबोधित किया
चीन की यात्रा पर गए चीन के पूर्व सुरक्षा अधिकारी और इंटरपोल के अध्यक्ष मेंग होंगवेई लापता

हालांकि ये भी आशंका जताई कि घरेलू जोखिम और गैर अनुकूल वैश्विक माहौल मेक्रो-इकोनॉमिक संभावनाओं को प्रभवित कर सकते हैं। विश्व बैंक ने रिपोर्ट में कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था ने वित्त वर्ष 2017-18 में 6.7 फीसदी की विकास दर हासिल की थी, जिसमें हालिया महीनों के दौरान अहम तेजी भी शामिल है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जीएसटी को लागू करना और बैंकों का रि-कैपिटलाइजेशन करना भारत के विकास को मजबूत कर रहा है और इसके आगे भी तेजी पकड़े रहने की संभावना है।

 

रिपोर्ट में कहा गया है कि तेल के ऊंचे दाम और वैश्विक व्यापार में अनिश्चित वातावरण भारत के चालू खाते के लिए चुनौती पैदा कर सकते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, व्यापार घाटा बढ़ने के कारण चालू खाता घाटा वित्त वर्ष 2018-19 की समाप्ति पर जीडीपी का 2.6 फीसदी रह सकता है। इसके अलावा वैश्विक वित्तीय परिस्थितियों के कारण भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के आगमन को प्रभावित कर सकती हैं।

 

ये भी पढें:

 

उत्तराखंडः पर्यटन क्षेत्र में 3600 करोड़ की निवेश योजनाओं के एमओयू पर हस्ताक्षर किये गये
उत्तराखंड:उत्तरकाशी जिले में हुआ दर्दनाक हादसा,गहरी खाई में गिरी टैंपो ट्रेवलर,9 तीर्थयात्रियों की मौत

 

By: Ritu Raj