पनामा में भारतीय राजदूत रवि थापर और सिंगापुर में भारतीय राजदूत जावेद अशरफ से वार्ता करते हुए उत्पल कुमार सिंह

पनामा में भारतीय राजदूत रवि थापर और सिंगापुर में भारतीय राजदूत जावेद अशरफ से वार्ता करते हुए उत्पल कुमार सिंह

 

देहरादून। अक्टूबर में आयोजित होने वाले इन्वेस्टर्स समिट में पनामा और सिंगापुर देशों से बड़ी संख्या में उद्योगपति शामिल होंगे। इन देशों के उद्योगपति उत्तराखण्ड में पूंजी निवेश के लिए उत्सुक हैं। उत्तराखण्ड से मास्टर ट्रेनर इन देशों में जाकर पर्यटन, आईटी, नगरीय प्रबंधन आदि में कौशल विकास का प्रशिक्षण लेंगे। प्रशिक्षण लेने के बाद उत्तराखण्ड आकर कौशल विकास का प्रशिक्षण देंगे। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह से मिलने आये पनामा में भारतीय राजदूत रवि थापर और सिंगापुर के भारतीय राजदूत जावेद अशरफ ने यह जानकारी दी।

 

 

बता दें कि सचिवालय में मिलने आये राजदूतों से मुख्य सचिव ने कहा कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पनामा और सिंगापुर के पूंजी निवेशकों से वार्ता की जाएगी। उत्तराखण्ड में उपलब्ध सिंगल विंडो सिस्टम और इज ऑफ डूइंग बिजनेस के बारे में बताया जाएगा। मसूरी में 70 एकड़ में हॉस्पिटैलिटी यूनिवर्सिटी, ऋषिकेश में इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर, औली में विंटर गेम्स, टिहरी में वाटर स्पोर्ट्स और गढ़वाल और कुमाऊं के प्रमुख पर्यटन स्थलों में होम स्टे का खाका तैयार कर लिया गया है। पूंजी निवेश आकर्षित करने के लिए प्रस्ताव आमंत्रित किए गए हैं। बैठक में अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, सचिव अमित नेगी, डॉ.भूपिंदर कौर औलख, आर. मीनाक्षी सुंदरम, दिलीप जावलकर, एमडी सिडकुल सौजन्या, अपर सचिव आर.राजेश कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।