brahmos missile
brahmos missile

नई दिल्ली। भारत ने सुखोई से ब्रह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण कर एक और विश्वरिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। भारत ने दुनिया की सबसे तेज सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का पहली बार भारतीय वायुसेना के सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमान से परीक्षण किया गया। जो सफल रहा इसी के साथ भारत पहला देश बन गया है। जिसके पास जमीन समुंद्र तथा हवा से चलाई जा सकने वाली सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल है। इस विश्वरिकॉर्ड का जिक्र रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने डीआरडीओ को बधाई देते ट्विट में भी किया है।

brahmos missile

brahmos missile

बता दें कि सफल परीक्षण की पुष्टी करते हुए रक्षा मंत्रालय ने बुधवार को एक बयान में बताया गया कि मिसाइल को सुखोई-30-एमकेआई या एसयू-30 विमान के फ्यूज़लेज से गिराया गया. दो चरणों में काम करने वाला मिसाइल का इंजन चालू हुआ और वह बंगाल की खाड़ी में स्थित अपने टारगेट की तरफ बढ़ गई। मंत्रालय का कहना है कि इस परीक्षण से भारतीय वायुसेना की हवाई युद्ध की ऑपरेशनल क्षमता खासी बढ़ जाएगी।

वहीं ढाई टन वज़न वाली यह मिसाइल हथियार ले जाने के लिए मॉडिफाई किए गए एसयू-30 विमान पर ले जाया गया सबसे वज़नी हथियार है। वैसे, अब ब्रह्मोस को ज़मीन, समुद्र तथा हवा से चलाया जा सकता है, और इसी के साथ भारत के पास युद्ध की स्थिति में बेहद अहम क्रूज़ मिसाइल ट्रायड (cruise missile triad) पूरा हो गया है।

Rani Naqvi
Rani Naqvi is a Journalist and Working with www.bharatkhabar.com, She is dedicated to Digital Media and working for real journalism.

    केरल लव जिहाद मामला: गोपनीय सुनवाई की मांग पर जल्द सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

    Previous article

    गोविंदा की परफॉर्मेंस पर नगरपालिका ने दिया इवेंट मैनेजर को 40% भुगतान काटने का नोटिस

    Next article

    You may also like

    Comments

    Comments are closed.

    More in देश