September 23, 2021 10:58 am
featured देश

इटली को पीछे छोड़ भारत कोरोना मरीजों के मामले में 5वें नंबर पर पहुंचा, 35 हजार से ज्यादा लोगों की मौत

Corona patient इटली को पीछे छोड़ भारत कोरोना मरीजों के मामले में 5वें नंबर पर पहुंचा, 35 हजार से ज्यादा लोगों की मौत

नई दिल्ली। भारत में कोरोना के बढ़ते मामले रूकने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। देश कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 16 लाख के पार पहुंच गई है, और 35 हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गवा चुके हैं। कोरोना से हुई मौतों के ममले में भारत ने इटली को पीछे छोड़ दिया है और पांचवें नंबर पर पहुंच गया है। हालांकि 10 लाख से ज्यादा लोगों ने कोरोना को मात दे दी है।

कोरोना से मौतों के मामले में 5वें नंबर पर भारत

बता दें कि भारत में कोरोना संक्रमण से मरने वालों के आकंड़ों के अनुसार भारत इटली को पीछे छोड़कर पांचवें नंबर पर पहुंच गया। वर्ल्डोमीटर के अनुसार देश में अबतक कोरोना से 35,786 लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना से मौतों के मामले में अमेरिका (1,54,963), ब्राजील (91,263), ब्रिटेन (45,999) और मेक्सिको (45,361) ही अब भारत से आगे हैं।

https://www.bharatkhabar.com/lost-count-after-50-murders-ayurvedic-doctor-to-police-after-arrest-in-delhi/

भारत में 16 लाख के पार हुई मरीजों की संख्या

वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, भारत में अबतक कोरोना के 16,39,350 केस सामने आए हैं जिनमें 35,786 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 10,59,093 लोग अबतक संक्रमण से मुक्त भी हो चुके हैं। देश में इस समय ऐक्टिव केसों की संख्या 5,44,471 है।

स्वास्थ्य मंत्री बोले- कोरोना के खिलाफ लड़ाई अब भी जारी

हर्षवर्धन ने कहा कि भारत में कोविड-19 का पहला मामला 30 जनवरी को आया था और 6 महीने हो चुके हैं लेकिन लड़ाई अब भी जारी है। विशाल देश और बड़ी आबादी होने के बावजूद हर मोर्चे पर वायरस के खिलाफ कामयाबी से निपटा गया है । देश में स्वास्थ्य ढांचे को चुस्त-दुरूस्त किए जाने पर मंत्री ने कहा कि 6 महीने पहले देश में वेंटिलेटर का आयात होता था लेकिन अब 3 लाख वेंटिलेटर निर्माण की क्षमता तैयार हो गई है। उन्होंने कहा, ‘अब अधिकतर वेंटिलेटर देश के भीतर ही बनाए जा रहे हैं। भारत करीब 150 देशों को हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा की आपूर्ति कर रहा है।’

कोरोना टेस्ट की रफ्तार में लगातार आ रही तेजी

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि अप्रैल में हम रोजाना 6000 जांच कर पा रहे थे। आज हर दिन 5 लाख से ज्यादा जांच हो रही है। अगले एक-दो महीने में रोजाना 10 लाख जांच करने की हमारी योजना है और हम इस दिशा में काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक समय था जब देश के भीतर आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कोविड-19 से संबंधित निर्यात रोक दिया गया।

Related posts

दक्षिण अफ्रीका की खदान में मिला बेश कीमती हीरा, 253 करोड़ कीमत

Breaking News

आगरा से मुंबई के बीच 29 मार्च से इंडिगो शुरू करेगी नई उड़ान, शेड्यूल जारी

Shailendra Singh

जमीन अधिग्रहण को लेकर किसानों ने पुलिस और एमडीए की टीम पर किया पथराव

Breaking News