वन क्षेत्र के हिसाब से शीर्ष 10 देशों में से एक है भारत: डॉ. हर्षवर्धन

नई दिल्ली। केन्द्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने सोमवार को ‘भारत राज्य वन रिपोर्ट 2017’ जारी करते हुए कहा कि देश में पिछले 10 सालों के दौरान वन क्षेत्र (वह क्षेत्र जिनके ऊपर पेड़ हैं) में इजाफा हुआ है और देश वन क्षेत्र के मामले में दुनिया के शीर्ष 10 देशों में शामिल है। यहां आयोजित एक प्रेस वार्ता में डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि वन क्षेत्र के मामले में दुनिया के शीर्ष 10 देशों में शामिल भारत में इन देशों के मुकाबले आबादी का दवाब कहीं ज्यादा है। उन्होंने कहा कि बाकी 9 देशों में प्रति वर्ग किमी में 150 लोग रहते हैं| भारत में प्रति वर्ग किमी में 382 लोग रहते हैं। इसके बावजूद भारत का वन क्षेत्र कुल क्षेत्रफल का 24.4 प्रतिशत है।

उन्होंने कहा कि आबादी और पशु धन के दबाव के बावजूद भारत में वन क्षेत्र का लगातार विस्तार हो रहा है। वार्षिक आधार पर सबसे ज्यादा वन क्षेत्र में इजाफा करने वाले देशों में भारत का स्थान आठवां है। 2015 के पिछले आकलन के बाद दो सालों में देश में 8,021 वर्ग किमी वन क्षेत्र में इजाफा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक आंध्र प्रदेश (2141 वर्ग किमी), कर्नाटक (1101 वर्ग किमी) और केरल (1043 वर्ग किमी) इन तीन राज्यों में वन क्षेत्र में अधिकतम वृद्धि हुई है।

वहीं वन क्षेत्र के हिसाब से मध्यप्रदेश देश में 77,414 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र के साथ सबसे ऊपर है| उसके बाद अरुणाचल प्रदेश (66,964 वर्ग किमी) और छत्तीसगढ़ (55,547 वर्ग किमी) का स्थान है। भौगोलिक क्षेत्र और वन क्षेत्र के प्रतिशत के हिसाब से लक्षद्वीप (90.33 प्रतिशत) सबसे अधिक वनों के आवरण में है। इसके बाद मिजोरम (86.27 प्रतिशत) और अंडमान निकोबार द्वीप (81.73 प्रतिशत) का नंबर आता है।