January 28, 2022 7:14 pm
featured देश

बौखलाया चीन भारत पर कर सकता है साइबर अटैक हो जाएं सावधान..

cyber crime arrested बौखलाया चीन भारत पर कर सकता है साइबर अटैक हो जाएं सावधान..

लद्दाख सीमा पर भारत और चीन के बीच हुई खूनी झड़प के बाद भारत और चीन के बीच लगातार विवाद बढ़ता जा रहा है। चीन ने जिस तरह से गलवान सीमा पर भारत के सैनिकों पर धोखे से हमला किया। उससे भारत में बहुत गुस्सा है। जिसको देखते हुए भारत सरकार ने अपनी तीनों सैना को छूट दे दी है। जिसकी वजह से चीन बुरी तरह से बौखलाया गया है। इस बीच वो भारत पर बड़ा साइबर हमला कर सकता है।

chaina

जानकारी के मुताबिक भारत पर यह अटैक 22जून से शुरू हो सकता है इस साइबर अटैक में एक ईमेल- ncov2019.gov.in से हमला हो सकता है।इस ईमेल का सब्जेक्ट- ‘Free Covid 19 Test’ हो सकता है।इसीलिए चीनी साइबर अटैक से बचने के लिए इस ईमेल से आए मेल या अटैचमेंट नहीं खोलें।बताया जा रहा है कि 20 लाख लोगों के ईमेल टारगेट पर हैं। निजी और वित्तीय ईमेल पर हमला हो सकता है।

कैसे रहें सावधान?
साइबर एक्सपर्ट का कहना है कि, इस चेतावनी को बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।उन्होंने कहा कि अगर आपके पास कोई अपरिचित मैसेज आता है जो कहता है कि किसी लिंक पर क्लिक करें तो आपको बिल्कुल नहीं करना है।अगर कोई ऐसा ईमेल आता जिससे आप परिचित नहीं है और जो कहता है कि कोई अटैचमेंट डाउनलोड करनी है तो ऐसा नहीं करें। ऐसा करके आप नई मुसीबत में फँस सकते हैं।

खबरों की मानें तो, सिक्युरिटी फर्म्स की रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीनी के साथ-साथ नॉर्थ कोरियन हैकर ग्रुप्स भी इसमें शामिल हैं जो किसी कैंपेन की मदद लेकर इस बड़े साइबर अटैक को अंजाम दे सकते हैं। सिंगापुर स्तिथ साइबर सिक्युरिटी फर्म साइफर्मा ने बताया है कि इन हैकर्स के पास जापान में 11 लाख निजी ई-मेल आईडी, भारत में 20 लाख ई-ईमेल आईडी और यूके में 1 लाख 80 हजार यूजर्स के ई-मेल आईडी हैं, जिन्हें टारगेट किया जा सकता है।

https://www.bharatkhabar.com/china-blocking-indian-prime-minister-modis-personal-website-reports-say/
अगर चीन ये करने में कामयबा हो जाता है तो भआरत को बड़ा झटका लगेगा। इसलिए हो सके तो सावधान रहें। क्योंकि आपकी नीजि जानकारी पर चीन की नजर है।

Related posts

यूजेवीएन लिमिटेड द्वारा राज्य सरकार को लाभांश के रूप में 18.69 करोड़ दिए गए

piyush shukla

चीन को लेकर भारत की रुस को खरी-खरी..

Srishti vishwakarma

जयललिता की बीमारी के चलते पन्नीरसेल्वम को मिली विभागों की जिम्मेदारी

shipra saxena