September 26, 2021 12:44 am
देश

राफेल की ताकत देख घबराया चीन, उतारे लड़ाकू बमवर्षक विमान

राफेल

चीन और भारत के बीच लंबे वक्त से विवाद चल रहा है। भारत और चीन के बीच इस विवाद के चलते भारतीय सैनिकों और चीनी सैनिकों में झड़प भी देखने को मिली है। राफेल को लेकर भारत और फ्रांस के बीच किए गए राफेल सौदा के चलते फ्रांस ने भारत को पांच राफेल विमान भेज दिए हैं। अब इन राफेल विमानों का अभ्यास किया जा रहा है जिसको देखते हुए चीन घबरा उठा है। चीन ने अपने होतान एयरबेस पर 36 बमवर्षक विमान उतार दिए हैं इससे साफ हो गया है कि चीन भारत की ताकत से डर गया है। जिसके चलते इनके चीन के होतान एयर बेस पर हलचल देखी जा रही है। देखने से ऐसा लग रहा है जैसे चीन ने डरकर अपने सारे फाइटर जेट की तैनाती यहीं पर कर दी है। चीन की ओर से की जाने वाली भारतीय सेना को लेकर उसकी नापाक हरकत का जवाब देने के लिए भारतीय सेना पूरी तरह तैयार है और चीन भी इसको लेकर डरता हुआ दिखाई दे रहा है। भारत के पास नई और अदभुत ताकत आने के साथ ही भारत एक मजबूत स्थिति में पहुंच गया है जिसके चलते चीन टेंशन में आ गया है। भारतीय सेना को भी सरकार की तरफ से पूर्ण अधिकार मिला हुआ है जिसके चलते भारतीय सेना भी इस बार पूरी तरह तैयार देख रही है।

राफेल ने की चीन की रणनीति फेल

भारत के पास राफेल जैसी ताकत आने के साथी सारा खेल और सभी समीकरण बदल गए हैं जिसको लेकर चीन उलझन में दिखाई दे रहा है। चीन समय-समय पर अपनी सेना को सीमा पर बढ़ा रहा है। चीन की ओर से लगातार सीमा पर हत्यार भी लगाए जा रहे हैं इसी के चलते आनन-फानन में अब चीन ने 28 जुलाई को अपने 36 फाइटर जेट्स को होतान एयरबेस पर उतार दिया है। इन फाइटर जेट्स में 24, j-11 बम बमवर्षक है जो रूस द्वारा बनाए गए हैं और 6 पुराने फाइटर जेट को भी शामिल किया गया है इसी के साथ अन्य जेंट्स की तैनाती भी की गई है। चीन ने अपने हेलीकॉप्टर की भी तैनाती कर दी है। राफेल के अभ्यास के चलते चीन की इस प्रकार की प्रतिक्रिया उसकी डर को साफ दिखाती है। इस बार चीन किसी भी प्रकार के नापाक हरकत करने से पहले एक बार जरूर सोचेगा अगर वह किसी भी प्रकार की गलती करता है तो उसका खामियाजा उसको भुगतना पड़ सकता है। भारतीय सेना और सरकार हमेशा से शांति की अपील करते हुए आए हैं और आज भी शांति की अपील ही कर रहे हैं लेकिन किसी भी प्रकार के एक्शन पर भारतीय सेना और भारतीय सरकार रिएक्शन देने के लिए पूरी तरह तैयार है।

राफेल की ताकत अदभुत

आपको बता दें कि आप दुनिया का सबसे ताकतवर फाइटर जेट विमान माना जाता है जो अब भारत के पास आ गया है। चीन के पास जो फाइटर जेट्स विमान है उनकी ताकत राफेल से बहुत कम है और वह राफेल की तरह हवा में 12 घंटे नहीं उड़ सकते हैं। भारत के पास एक नहीं बल्कि 5 राफेल विमान है जो चीन को पीछे हटाने में कामयाब साबित होंगे। इसके अलावा भारत के पास मिग- 29 और सुखोई जैसे फाइटर जेट है। जिनको पहले ही लद्दाख में तैनात कर दिया गया है। इस बार चीन भारत की जवाबी कार्रवाई से किसी भी तरह नहीं बच सकता है। भारत ने जवाबी कार्रवाई करने के लिए अपनी तैयारियां पूरी कर रखी है।

रोहिणी रडार भी किया जायेगा तैनात

रडार सिस्टम को लेकर भारत ने तय किया है कि एलएसी पर रोहिणी नाम के रडार की तैनाती की जाएगी। डीआरडीओ खास तौर पर इसे भारतीय सेना के लिए बना रही है साथ ही 6 वेपन लोकेटिंग स्वाति रडार पहले ही एलएसी पर दुश्मन की गतिविधियों पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

Related posts

दिव्‍यांगता क्षेत्र में सहयोग के लिए ऑस्‍ट्रेलिया के प्रतिनिधिमंडल के साथ सामाजिक न्‍याय मंत्री ने की बैठक

bharatkhabar

सैलून वाले को लापरवाही दिखाना पड़ा भारी, 18 लोगों के काटे बाल कोरोना रिपोर्ट आयी तो मचा बवाल..

Mamta Gautam

राष्ट्रगान पर खड़े न होने का मतलब ये नही कि वो देशभक्त नहीं: सुप्रीम कोर्ट

Rani Naqvi