November 27, 2022 2:35 pm
featured Breaking News देश

संविधान बदलना पड़े तो बदले, भारत बने हिंदू राष्ट्र: तोगड़िया

Togadiya संविधान बदलना पड़े तो बदले, भारत बने हिंदू राष्ट्र: तोगड़िया

कटिहार। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के नेता प्रवीण भाई तोगड़िया ने यहां मंगलवार को कहा कि देश ने तुष्टिकरण की नीति का बड़ा नुकसान उठाया है और अब इसे बदलने की जरूरत है। उन्होंने लोगों से देश को हिंदू राष्ट्र बनाने का आह्वान करते हुए कहा कि इसके लिए अगर संविधान में बदलाव किए जाने की जरूरत हो, तो वह भी किया जाना चाहिए। कटिहार में विहिप की ओर से आयोजित धर्म रक्षा सम्मेलन में लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने ‘हज सब्सिडी’ को लेकर सरकार पर जमकर निशाना साधा।

Togadiya

‘सबका साथ, सबका विकास’ का नारा देने वाली नरेंद्र मोदी सरकार के समर्थक ने कहा कि हिंदुओं द्वारा दिए गए कर से मुसलमनों को हज पर जाने के लिए सब्सिडी दी जाती है। इस पर तत्काल रोक लगनी चाहिए। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि हिंदुओं के तीर्थस्थलों पर जाने के लिए सब्सिडी क्यों नहीं दी जाती। तोगड़िया ने अपने खास अंदाज में जम्मू एवं कश्मीर की समस्या के समाधन के लिए सर्वदलीय समिति बनाए जाने और वहां जाने को उचित कदम बताया, लेकिन कहा कि अगर ये लोग गए थे, तब वहां हिंदू शरणार्थियों से क्यों नहीं मिले? घायल हुए सेना के जवानों से क्यों नहीं मिले?

हिंदुओं और मुसलमानों में जनसंख्या की गति को लेकर भी उन्होंने सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि सरकार को ऐसा कानून बनाना चाहिए, जिसमें मुसलमानों को दो से अधिक बच्चे पैदा करने पर रोक लगे। उन्होंने कहा, “हिंदुओं में भी दस बच्चे पैदा करने की ताकत है, लेकिन उन्होंने दो बच्चों का परिवार का सरकारी नारा आत्मसात कर लिया है। मुसलमान इसे नहीं मानते।” उन्होंने कहा कि देश ने तुष्टिकरण की नीति का बड़ा नुकसान उठाया है। अब इस देश में प्रधानमंत्री उसी को बनना चाहिए जो हिंदुओं के हित की बात करे।

इसके पूर्व मुजफ्फरपुर में तोगड़िया ने कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव तक राम मंदिर को लेकर विहिप कोई आंदोलन नहीं करेगी। हालांकि उन्होंने राम मंदिर निर्माण के लिए पहल जारी रखने की बात कही। तोगड़िया मुजफ्फरपुर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जाएगा, लेकिन प्रदेश चुनाव तक कोई आंदोलन नहीं होगा। उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद आंदोलन पर विचार होगा।

विहिप के नेता ने बिहार सरकार की शराबबंदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि देश में शराब, तंबाकू और मादक पदार्थो के सेवन से 40 करोड़ लोग किसी न किसी बीमारी से ग्रसित हैं। उन्होंने कहा कि विहिप शराब, तंबाकू व मादक पदार्थ से मुक्ति के लिए अभियान चला रही है। बिहार में शराबबंदी स्वागत योग्य है।

Related posts

RTI Act: सरकारी रूपी सत्ता प्रतिष्ठान कि लोकायुक्त की जांच को अपने अधिकार में लेने की मांग

bharatkhabar

यूपी विधानसभा चुनाव 2022: कांग्रेस पार्टी ने मतदाताओं के साथ शुरू की वर्चुअल मीटिंग

Shailendra Singh

लखनऊ के जाने-माने होटल में युवक ने लगाई फांसी, कई घंटों तक लटकता रहा शव

Shailendra Singh