featured Breaking News देश

स्वतंत्रता दिवस: कड़ी सुरक्षा घेरे में लाल किला

Red Fort स्वतंत्रता दिवस: कड़ी सुरक्षा घेरे में लाल किला

नई दिल्ली। जमीन से आसमान तक लाल किला और उसके आसपास एक बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है, जहां स्वाधीनता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीसरी बार राष्ट्र को संबोधित करेंगे। पुरानी दिल्ली में स्थित 17वीं सदी के इस मुगलकालीन स्मारक को गत आठ अगस्त को करीब 10 सुरक्षा एजेंसियों ने अपने कब्जे में ले लिया। वे 14 अगस्त की शाम को इस परिसर को विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) और दिल्ली पुलिस को सौंपेंगे।

Red Fort

सुरक्षा एजेंसियों में प्रधानमंत्री का सुरक्षा समूह (एसपीजी), दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा, राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी), भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस(आईटीबीपी), सीमा सुरक्षा बल(बीएसएफ) और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल(सीआरपीएफ) शामिल हैं।

विशाल स्मारक की नियमित सुरक्षा करने वाले केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) भी सुरक्षा अभ्यास में शामिल है। इसके अलावा खुफिया ब्यूरो के साथ ही श्वान और बम का पता लगाने वाले दस्ते भी अभ्यास में शामिल हैं। एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा, “हमारा दैनिक सुरक्षा अभ्यास 14 अगस्त तक चलेगा।”

हर साल की तरह 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री किले के प्राचीर से देश को संबोधित करेंगे। एक प्रसिद्ध पर्यटक स्थल के रूप में मशहूर लाल किला को आठ अगस्त को ही आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया था। यह स्वाधीनता दिवस समारोह के बाद सोमवार को पुन: खोला जाएगा। किले के अंदर सुरक्षा कर्मियों को विशेष पहचान पत्र दिए गए हैं, ताकि कोई बाहरी आदमी किले में घुसपैठ नहीं कर पाए। 15 अगस्त को 400 अच्छे निशानेबाज समेत कम से कम 9000 सशस्त्र सुरक्षाकर्मी किला और उसके आसपास तैनात किए जाएंगे।

समारोह स्थल के 500 मीटर के दायरे में मकानों पर सीआईएसएफ के 40 अचूक निशानेबाज और बीएसएफ के अलावा एनएसजी, सीआरपीएफ, आईटीबीपी एवं स्पेशल वेपन्स एंड टैक्टिक्स (एसडब्ल्यूएटी) के 360 कर्मी तैनात किए जाएंगे।

किला परिसर और आसपास के इलाकों में करीब 500 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। स्मारक के निकट मेट्रो की सुरंग एक दिन पहले ही बंद कर दी जाएगी और उसके दोनों छोर पर सशस्त्र गार्ड तैनात किए जाएंगे। सुरक्षा बलों ने किले की सफाई गत जून महीने में ही शुरू कर दी थी। सुरक्षा बलों की तैयारियों का पता लगाने के लिए प्रतिदिन करीब दर्जनों मॉक ड्रिल किए जाते हैं, जिनमें तथाकथित तात्कालिक विस्फोटक उपकरण (आईडी) रखना और स्थल पर आतंकी हमले शामिल होते हैं।

15 अगस्त को दिल्ली भर में बड़ी संख्या में पुलिस कर्मी भी तैनात किए जाएंगे। राजधानी के भीड़ वाले स्थलों, बाजारों, रेलवे स्टेशनों, बसअड्डों और अन्य सामरिक जगहों पर 35000 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे। अधिकारी ने कहा कि तोड़-फोड़ निरोधक दल शहर में औचक तलाशी और जांच अभियान चला रहे हैं।

15 अगस्त के लिए एक विशेष नियंत्रण कक्ष बनाया गया है। दिल्ली पुलिस ने लाल किला के ऊपर से विमानों की आवाजाही पर शुक्रवार से अगले दो माह के लिए प्रतिबंध लगा दिया है।

Related posts

शुरू हुआ स्वतंत्रता दिवस का जश्न

Aditya Mishra

केंद्र सरकार ने बचत योजनाओं के ब्याज दर में कटौती का फैसला लिया वापस, पुरानी दर से मिलता रहेगा रिटर्न

Saurabh

पाकिस्तान का ‘नापाक’ कदम, नौशेरा में तोड़ा सीजफायर

shipra saxena