September 22, 2021 11:31 pm
featured देश

कोरोना काल में पीएम मोदी स्‍वतंत्रता दिवस पर कैसे देंगे भाषण?

indepenent 1 कोरोना काल में पीएम मोदी स्‍वतंत्रता दिवस पर कैसे देंगे भाषण?

देश में हर साल 15 अगस्त को स्‍वतंत्रता दिवस मानाया जाता है। इस दिन देश के प्रधानमंत्री के द्वारा लाल किले से देश को संबोधित किया जाता है। लेकिन इस बार कोरोना की वजह से पीएम मोदी के भाषण को लेकर खास तैयारियां चल रही हैं। जिसकी चर्चा हर जगह हो रही है।

PM MODI 3 कोरोना काल में पीएम मोदी स्‍वतंत्रता दिवस पर कैसे देंगे भाषण?
इस स्‍वतंत्रता दिवस पर लाल किले में प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा, फिर 21 बंदूकों की सलामी होगी और उसके बाद प्रधानमंत्री का संबोधन होगा। सबसे अंत में राष्‍ट्रगान होगा। राज्‍यों/केंद्रशासित प्रदेशों से इस बार कोविड वॉरियर्स को बुलाने को कहा गया है। आइए जानते हैं इस बार के स्‍वतंत्रता दिवस समारोह में क्‍या बदलाव देखने को मिलेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी को कोरोना वायरस से बचाने के लिए इस बार लाल किले की तमाम जगहों पर खास कोटिंग की जा रही है। ये वे जगहें हैं जिन्‍हें प्रधानमंत्री समारोह के दौरान छू सकते हैं। इसमें लाल किले की प्राचीर से लेकर मंच और रेलिंग तक शामिल हैं। यह खास कोटिंग कोरोना वायरस को पांच से सात दिन तक पनपने नहीं देती है। इससे पीएम के अलावा करीब 150 वीआईपी को भी सुरक्षा मिलेगी।कोरोना के चलते इस बार लाल किले पर आजादी के जश्‍न में बच्‍चों को शामिल नहीं किया जाएगा। हर बार उनकी मौजूदगी से माहौल बना रहता था मगर इस बार थर्माकोल से प्रतीक बनाए जाएंगे।

इस बार स्‍वतंत्रता दिवस समारोह में कोरोना वॉरियर्स को खासतौर से शामिल किया जाएगा। करीब डेढ़ हजार कोविड वॉरियर्स इस समारोह का हिस्‍सा होंगे जिनमें दिल्‍ली पुलिस के 200 जवानों के अलावा पैरामिलिट्री फोर्सेज के जवान होंगे। इसके अलावा कोरोना से ठीक हो चुके लोगों को भी बुलाया गया है।

https://www.bharatkhabar.com/high-risk-on-coronavirus-death-in-india/
इस बार सेना या पुलिस का बैंड मौजूद नहीं होगा। उनके बैंड का रिकॉर्ड किया विडियो लाल किले पर बड़े एलईडी स्क्रीन पर चलाया जाएगा। कोरोना की वजह से इस बार कोशिश की जा रही है कि, कम से कम भीड़ इकठ्ठी हो। इसी लिए पूरी व्यवस्था का ध्यान रखा जा रहा है।

 

 

Related posts

अगले तीन महीनों के लिए टीम से बाहर हुए शाकिब, बोले ‘फिज़ियो नहीं पहचान पाए चोट’

mahesh yadav

जेएनयू के शोध छात्र के खिलाफ दुष्कर्म का मामला

Rahul srivastava

EC ने जारी किया नोटिस, 5 अगस्त को उपराष्ट्रपति चुनाव

Srishti vishwakarma