January 26, 2022 7:46 pm
Breaking News भारत खबर विशेष यूपी हेल्थ

पोस्ट कोविड मरीजों में बढ़ रही भूलने की समस्या

default पोस्ट कोविड मरीजों में बढ़ रही भूलने की समस्या

लखनऊ। पोस्ट कोविड मरीजों में ब्लैक और व्हाइट फंगस जैसी गंभीर समस्याएं देखने को मिल रहीं हैं, इस बीच एक और नई समस्या भूलने की बीमारी सामने आ गई है। अस्पतालों में लगातार मनोचिकित्सकों के पास लोग इलाज के लिए पहुंच रहे हैं।

बलरामपुर अस्पताल के वरिष्ठ मनोचिकित्सक डॉ प्रवीण श्रीवास्तव ने बताया कि ऑनलाइन मरीजों की काउंसलिंग और इलाज किया जा रहा है। इस दौरान देखने को मिला है लोग भूलने की बीमारी से ग्रसित हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि पोस्ट कोविड मरीजों यह समस्या लगातार बढ़ रही है। शुरूआत में गिने-चुने मरीज आते थे लेकिन अब रोज सात से आठ मामले सामने आ रहे हैं।

खौफ से बढ़ी समस्या

डॉ प्रवीण ने बताया कि भूलने की बीमारी के पीछे की मूल वजह है इलाज के दौरान और उसके बाद की मनोस्थिति। उन्होंने बताया कि कोरोना ने जिस प्रकार से कहर ढाया है, उसने पॉजिटिव हुए मरीजों के दिल में एक डर पैदा कर दिया है। जिसके कारण वह चिड़चिड़ेपन का शिकार हो रहे हैं। पोस्ट कोविड के बाद की बीमारियों का डर भी उन्हें खौफजदा कर रहा है। ऐसे में इन सबके कारण भूलने की समस्या बढ़ रही है।

परेशान होने की जरूरत नहीं

उन्होंने बताया कि इस बीमारी को लेकर बहुत ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है, लेकिन इसको हल्के में भी नहीं लेना है। समय पर इलाज और काउंसलिंग होनी बहुत जरूरी है। अगर समय रहते इलाज शुरू हो जाता है तो समस्या से जल्द निदान मिल सकता है।

बारीकी से रखें ध्यान

डॉ प्रवीण ने बताया कि कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों का बहुत ध्यान रखने की जरूरत है। अगर वे गंभीर रूप से बीमार होकर ठीक हुए हैं तो उन्हें और देखभाल की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि पोस्ट कोविड के बाद अगर मरीज अजीब व्यवहार कर रहा है या उसमें कुछ परिवर्तन दिखता है तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें। मरीज किसी बात पर तुरंत चिढ़ रहा हो तो उसे प्यार से समझाने की जरूरत है। पोस्ट कोविड मरीजों की देखभाल बहुत जरूरी है।

Related posts

प्रयागराज: प्रताड़ना से परेशान महिला तीन बच्चों के साथ यमुना नदीं में कूदी, पढ़ें पूरी खबर

Shailendra Singh

महापौर और पार्षदों को सीएम योगी ने सौंपी बड़ी जिम्मेदारी, जानिए क्या है अपील

Aditya Mishra