September 28, 2021 7:30 am
featured देश

जम्मू-कश्मीर में कोरोना महामारी की आड़ में किसी की भी गरीबी का मजाक बनाना पड़ सकता है मंहगा

जम्मू जम्मू-कश्मीर में कोरोना महामारी की आड़ में किसी की भी गरीबी का मजाक बनाना पड़ सकता है मंहगा

श्रीनगर। कोरोना महामारी की आड़ में किसी की भी गरीबी का मजाक बनाना महंगा साबित पड़ सकता है। मदद की आड़ में पिछले दो सप्ताह में कई लोग गरीबों को राशन आदि उपलब्ध करवाते हुए सोशल मीडिया पर फोटो वायरल करते रहे हैं। लेकिन अब जल्द ही यह महंगा साबित हो सकता है। एसएसपी कठुआ डॉ शैलेंद्र मिश्रा ने यू-कठुआ के सभी स्वयंसेवकों व अन्य सभी संगठनों को निर्देश दिए गए हैं कि वे ऐसा कोई भी फोटो न तो अपलोड करें और न ही शेयर करें, जिससे ऐसा प्रतीत हो कि गरीबी का मजाक उड़ाया जा रहा है। वहीं उन्होंने ऐसा कर रहे लोगों से सख्ती से निपटने के लिए जिला प्रशासन को आदेश जारी करने के लिए कहा है।

बता दें कि शनिवार को ही श्रीनगर जिला प्रशासन भी इस पहल के तहत आदेश जारी कर गरीब लोगों को दान आदि देते समय फोटो खिंचवाने पर प्रतिबंध लगा चुका है। उधर, शनिवार को यू-कठुआ में हुई बैठक के दौरान एसएसपी ने विभिन्न जनप्रतिनिधियों को बताया कि अब से पंचायत और निकायों के प्रतिनिधि भी यू कठुआ का हिस्सा बन गए हैं।

बता दें कि उन्हें अपने-अपने क्षेत्र में जरूरतमंद लोगों की पहचान करने के साथ ही वितरण के नियंत्रण की जिम्मेदारी दी गई है। इसका मकसद यही है कि कोई भी गरीब परिवार मदद से अछूता न रहे। बताया कि यू कठुआ के सभी सदस्यों को निर्देश दे दिए गए हैं कि वे सोशल मीडिया या कहीं और मदद करते समय फोटो शेयर न करें।

 

Related posts

शारीरिक सम्बंध के दौरान क्या हो सकता है कोरोना? जानें पूरा सच

Trinath Mishra

नौकरी दिलाने के नाम पर जिस्मफरोशी कराने वालों का भंडाफोड़

Trinath Mishra

मदरसे रेप केस में बड़ा खुलासा: नाबालिग नहीं बालिग है आरोपी

rituraj