September 28, 2022 8:28 pm
Breaking News यूपी

अवैध असलहा फैक्ट्री-बाइक चोर गैंग का भंडाफोड़, पकड़ी गई तमंचा फैक्ट्री

अवैध असलहा फैक्ट्री-बाइक चोर गैंग का भंडाफोड़, पकड़ी गई तमंचा फैक्ट्री

फतेहपुर: जिले की पुलिस को अलग-अलग थाना क्षेत्रों में शातिर बदमाशों को गिरफ्तार करते हुए बड़ा खुलासा किया है। एक ओर जहां गाजीपुर थानाक्षेत्र में अवैध शस्त्र फैक्ट्री पकड़ी गई तो वही हुसैनगंज में बाइक चोर गैंग का खुलासा हुआ। सबसे बड़ी बात है कि इसका मास्टरमाइंड एक महीना पहले ही जमानत पर छूट कर आया था। पुलिस लाइन स्थित सभागार में शनिवार को प्रेस वार्ता हुई, जिसमें पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने यह जानकारी दी।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गाजीपुर पुलिस फुलवामऊ तिराहे पर चेकिंग अभियान में व्यस्त थी। तभी वहां से गुजर रही स्कार्पियो को रोका गया। जिसमें तीन लोग बैठे हुए थे। वाहन की तलाशी के दौरान इनके पास से तीन तमंचे बरामद हुए। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि ये असलहे श्याम और संजय से खरीदे गए थे।

ये दोनों बड़ागांव के जंगल में अवैध शास्त्र फैक्ट्री का चलाते हैं। जिस पर थानाध्यक्ष नीरज यादव ने संजय और  श्याम को मौके से दबोचते हुए गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की कार्रवाई में आरोपियों के पास से कुल छह तमंचे 315 बोर, दो तमंचा 12 बोर, दो रायफल 315 बोर, तीन अर्धनिर्मित तमंचा 12 बोर, एक अर्धनिर्मित तमंचा 315 बोर और भारी मात्रा में असलहा बनाने के उपकरण बरामद किए हैं।

अवैध असलहा फैक्ट्री-बाइक चोर गैंग का भंडाफोड़, पकड़ी गई तमंचा फैक्ट्री

गिरफ्तार आरोपियों ने अपना नाम-पता मोबीन खान, पुत्र छेद्दू निवासी शहाबुद्दीनपुर थाना थरियांव, फारूख पुत्र खान निवासी पीरनपुर थाना कोतवाली, रवि निवासी कस्बा गाजीपुर, श्याम रैदास निवासी बड़ा गांव मछरिया  गाजीपुर और संजय निवासी सूबेदारपुर थाना थरियांव बताया। ये सभी विधानसभा चुनाव में दहशत फैलाने के लिए शस्त्र बेचने जा रहे थे। आरोपियों के आधार पर अवैध तमंचा खरीदने वाले का सत्यापन किया जा रहा है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बहुत जल्द इस मामले का खुलासा होगा, तो वहीं हुसैनगंज थानाध्यक्ष रणजीत बहादुर सिंह और एसओजी प्रभारी विनोद कुमार मिश्र ने संयुक्त अभियान चलाते सुबह आठ बजे लालीपुर मोड़ के पास से चोरी की 11 बाइकों के साथ छह आरोपियों को गिरफ्तार किया। इनमें संदीप उर्फ पिंटू जो निबहरा मसवानी का रहने वाला है वो पिछले महीने जमानत पर बाहर आया है। ये शातिर रायबरेली, लालगंज, सरैनी, बिंदकी, खागा सहित कई जगहों से बाइक चोरी की घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं। पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने गाजीपुर पुलिस को 25 हजार और हुसैनगंज पुलिस को 10 हजार रुपये के पुरस्कार की घोषणा की है।

Related posts

रक्षा मंत्री से चर्चा के बाद किसानों ने नोएडा-दिल्ली बॉर्डर खोला!

Shagun Kochhar

शाहरुख अमेरिकी हवाईअड्डे पर हिरासत में लिए गए, राजनयिकों ने मांगी माफी

bharatkhabar

लोगों का मिजाज बदला, सरकार बदली.. जल्द ही देश भी बदलेगा: मोदी

bharatkhabar