September 21, 2021 9:56 pm
featured यूपी

16 अगस्त को बरेली को मिलेगी ‘अटल बिहारी वाजपेई सेतु’ की सौगात

16 अगस्त को बरेली को मिलेगी 'अटल बिहारी वाजपेई सेतु' की सौगात

बरेली: बरसों के इंतज़ार के बाद शहर को चौपुला के जाम से निजात मिलने जा रही है। चौपला पुल बनकर तैयार हो गया है। 16 अगस्त को ऐसे शहर की जनता को सौंप दिया जाएगा। पुल का नाम पूर्व प्रधानमंत्री व भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेई जी के नाम पर रखा जाएगा। भाजपा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष व कैंट विधायक राजेश अग्रवाल ने शहर के लोगों की मांग पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से बात करके उद्घाटन के लिए 16 अगस्त का दिन तय कराया है।

बरेली की जनता बरसों से चौपुला व सेटेलाइट चौराहे पर जाम से जूझ रही थी। यूपी में बीजेपी सरकार आने के बाद कैंट विधायक व तत्कालीन वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने सेटेलाइट पुल, चौपुला चौराहे पर वाई शेप पुल, नकटिया नदी पर चार पुलों का प्रस्ताव बनाकर उप मुख्यमंत्री व लोक निर्माण विभाग के मंत्री केशव प्रसाद मौर्य को भेजा। उप मुख्यमंत्री ने जनहित के इस मुद्दे पर रुचि लेते हुए सभी पुलों के प्रस्तावों को मंजूरी दे दी।

पुल अब जनता को सौंपने की तैयारी

ओवरब्रिज व पुलों के प्रस्ताव पास होने के तुरंत बाद वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने बजट पास किया और सेतु निगम के अफसरों के साथ बैठक करके ओवरब्रिज समय पर तैयार करने के आदेश दिए। उन्होंने पुलों के निर्माण में आ रही बाधाएं दूर कराई। उप मुख्यमंत्री भी इसकी समीक्षा करते रहे। अब पुल बनकर तैयार है। इसे शहर की जनता को सौंपने की तैयारी है। सेटेलाइट पुल और नकटिया नदी के पुल पहले ही चालू हो चुके हैं।

 

बरेली की जनता की मांग, भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के नाम हो चौपुला ओवरब्रिज
अटल बिहारी वाजपेई सेतु (चौपुला ओवरब्रिज), बरेली

 

शहर के लोगों ने भाजपा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष राजेश अग्रवाल से मिलकर एवं मांग की कि चौपुला पुल का नाम भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी सेतु रखा जाए। यह पुल दिल्ली, लखनऊ, नैनीताल व आगरा रोड को जोड़ेगा। लोगों का सफर सुगम होगा और जाम की समस्या खत्म होने से उनका वक्त भी बचेगा। लोगों ने कहा कि, अटल बिहारी वाजपेयी जी ने देश में स्वर्णिम चतुर्भुज योजना की शुरुआत की थी। उनके विजन से ही देश के हर कोने में सड़कों का जाल पहुंचा। चौपुला पुल का नाम उनके नाम पर करके बरेली वालों को राष्ट्रनायक को सच्ची श्रद्धांजलि देनी चाहिए।

पुण्यतिथि पर अटल जी को दी जाए सच्ची श्रद्धांजलि

लोगों ने कहा कि, 16 अगस्त को अटल बिहारी वाजपेई जी की पुण्यतिथि है। उस दिन पुल का उद्घाटन किया जाए। ऐसा करके बरेली के लोग उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि देंगे। पुल के पिलरों पर अटल बिहारी वाजपेई जी की जीवनी दर्शाई जाए, जिससे शहर के लोग और खासतौर पर युवा पीढ़ी और स्कूली बच्चे अपने महान नेता के जीवन दर्शन से रूबरू हो सकें।

राजेश अग्रवाल ने डिप्‍टी सीएम से फोन पर की बात   

जनता के अनुरोध पर राजेश अग्रवाल ने उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से बात करके पुल के उद्घाटन का कार्यक्रम तय कराया। उन्होंने उप मुख्यमंत्री को बताया कि, बरेली के लोग पुल का नाम अटल बिहारी वाजपेई सेतु रखना चाहते हैं। केशव प्रसाद मौर्य ने इस प्रस्ताव को तुरंत अपनी सहमति दे दी। वह 16 अगस्त को पुल का वर्चुअल उद्घाटन करेंगे। उन्होंने राजेश अग्रवाल से भी पुल के उद्घाटन कार्यक्रम में उपस्थित रहने का अनुरोध किया।

 

16 अगस्त को बरेली को मिलेगी 'अटल बिहारी वाजपेई सेतु' की सौगात

 

राजेश अग्रवाल से बातचीत के बाद केशव प्रसाद मौर्य ने सेतु निगम के अफसरों को उनसे बातचीत करने के लिए कालीबाड़ी स्थित आवास पर भेजा। बैठक में यह तय किया गया कि पुल का नाम अटल बिहारी वाजपई सेतु रखा जाएगा। राजेश अग्रवाल से बातचीत के बाद सेतु निगम के अधिकारियों ने उद्घाटन की तैयारियां शुरू कर दी है।

 

16 अगस्त को बरेली को मिलेगी 'अटल बिहारी वाजपेई सेतु' की सौगात

किला क्रॉसिंग पर नया ओवरब्रिज बनाने की मांग  

बीजेपी कार्यकर्ताओं व सामाजिक संगठनों ने किला क्रॉसिंग पर नया रेल ओवरब्रिज बनाने की मांग भी उठाई है। यहां बना ब्रिज जर्जर हो चुका है। राजेश अग्रवाल पहले ही नए किला ओवर ब्रिज पर प्रस्ताव बनाकर शासन को भेज चुके हैं। शासन स्तर पर प्रस्ताव को मंजूरी मिलते ही किला ओवरब्रिज का काम भी शुरू हो जाएगा। राजेश अग्रवाल ने सेतु निगम के अफसरों से इस बारे में बात की। उन्होंने कहा कि, नए किला पुल लिए कवायद तेज की जाए।

 

16 अगस्त को बरेली को मिलेगी 'अटल बिहारी वाजपेई सेतु' की सौगात

 

 

“चौपला पुल बनकर तैयार हो गया है। मुझे इस बात की खुशी है कि शहर के लोगों ने इसका नाम अटल बिहारी वाजपेई सेतु रखने की मांग की। लोगों की मांग पर मैंने उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य से बातचीत की और उनको जन भावनाओं से अवगत कराया। उन्‍होंने पुल का नाम अटल बिहारी वाजपेई हेतु रखे जाने के प्रस्ताव को अपनी मंजूरी दे दी है। सेतु निगम के अफसर पुल के उद्घाटन की तैयारियों में जुट गए हैं। 16 अगस्त को शहर के लोगों को बरसों पुराने जाम से निजात मिल जाएगी। मेरी तरफ से जनता को ढेर सारी बधाई। उप मुख्यमंत्री का धन्यवाद कि उन्होंने लोगों की इस मांग को सहर्ष स्वीकार किया।”

-राजेश अग्रवाल, कैंट विधायक व राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष, भाजपा

Related posts

बालाकोट आतंकी शिविर फिर सक्रिय, पाक आतंकियों को और मजबूत बना रहा: सेना प्रमुख

Trinath Mishra

कोरोना संकट: लगातार तीसरे दिन 18 हजार से ज्यादा नए केस, 97 लोगों की गई जान

Saurabh

सोने के दाम में आई गिरावट, खरीदने का है सही समय

Samar Khan