ये लीग आज होती तो ना होता आईपीएल, फंस गया था लोचा

लखनऊ (भारत खबर स्‍पेशल)। इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन का आगाज हो चुका है। इस सीजन में आठ टीमें प्रतिभाग कर रही हैं। कोरोना की वजह से पिछली बार इसका आयोजन शारजाह में हुआ था। इस बार इसकी वापसी हुई है लेकिन एक बार फिर कोरोना ने अटैक किया है। जिसके कारण से दर्शकों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। इस सीजन के सभी मैच मुंबई में खेले जा रहे हैं।

आईपीएल की शुरुआत साल 2008 में हुई थी। जिसके बाद इस लीग ने न सिर्फ भारत बल्कि दुनिया सबसे लोकप्रिय और महंगी क्रिकेट लीग की श्रेणी में जगह बना ली। इसकी लोकप्रियता का आलम यह है कि दुनिया का शायद ही कोई क्रिकेटर इस लीग का हिस्सा बनने का सपना न देखता हो।

आईपीएल ने दुनिया के क्रिकेटरों को नाम, पैसा और शोहरत का ऐसा मंच दिया है जो शायद ही कहीं मिले। क्रिकेट की दुनिया को प्रतिभाओं की खान इस लीग से मिली हैं। यही कारण है कि आज क्रिकेट अब और रोमांचकारी हो गया है। क्रिकेट प्रेमियों के लिए भी आईपीएल किसी जलसे से कम नहीं है। हर साल इसके शुरू होने तक क्रिकेट प्रेमी बेताब रहते हैं।

लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि आईपीएल हमारे देश की पहली ऐसी लीग नहीं थी। उसके पहले एक और लीग आई थी लेकिन, नियम कानून के पेंच के फंसकर लीग को खत्म करना पड़ा।

इंडियन क्रिकेट लीग ने मचाई थी धूम

किसी भी चीज को शुरू करने के लिए बड़ी तैयारी की जरूरत होती है। उसके पीछे कोई न कोई आ‍इडिया और उद्देश्‍य छिपा होता है। लेकिन, आईपीएल के शुरू होने के पीछे की कहानी थोड़ी दिलचस्प है। साल था 2007 और अचानक एस्‍सेल ग्रुप ने इंडियन क्रिकेट लीग नाम से क्रिकेट की दुनिया में धूम मचाने की घोषणा की।

जिसको फंडिंग किया जी एंटरटेनमेंट इंटरप्राइजेज ने। यह‍ लीग आते ही लोगों के जहन रच बस गई। इस लीग में आईसीएल इंडिया, आईसीएल पाकिस्तान, आईसीएल बांग्लादेश और आईसीएल वर्ल्‍ड नाम से टीमों को शामिल किया गया।

ये लीग आज होती तो ना होता आईपीएल, फंस गया था लोचा

साथ ही नौ घरेलू टीमों को भी शामिल किया गया। जिसमें भारत से मुंबई चैंप्‍स, चेन्‍नई सुपरस्‍टार्स, चंडीगढ़ लायंस, हैदराबाद हीरोज, रॉयल बंगाल टाइगर्स, दिल्‍ली जियान्ट्स, अहमदाबाद रॉकेट्स और पाकिस्‍तान की लाहौर बादशाह व बांग्‍लादेश की ढाका वॉरियर्स टीमों ने भी प्रतिभाग किया।

नामी क्रिकेटर बने हिस्‍सा

दुनिया के कई नामी गिरामी क्रिकेटरों ने इसमें हिस्‍सा लिया। 20-20 फॉर्मेट की यह लीग आते पूरी दुनिया में चर्चा का हिस्‍सा बन गई। इस लीग में इंजमाम उल हक, मोहम्‍मद युसूफ, क्रिस हैरिस, इयान हॉर्वे, एंड्रयू हॉल, लांस क्‍लूजनर, निकी बोए, पॉल निक्‍सन, डेमियन मॉर्टिन, मर्वन अटापट़टू, अब्‍दुर रज्‍जाक, सकलैन मुश्‍ताक जैसे दिग्‍गज खिलाड़ी हिस्सा बने।

वहीं, राजगोपाल सतीश, स्‍टुअर्ट बिन्‍नी, इब्राहिम खलील, अली मुर्तजा, अब्‍बास अली, गणपति विग्‍नेश, टीपी सिंह, अंबाती रायडू, राजामनी, जेसूराज जैसे नए नवेले खिलाड़ियों ने अपना नाम स्थापित कर दिया।

ये लीग आज होती तो ना होता आईपीएल, फंस गया था लोचा
कानूनी दांव पेंच में फंसकर खत्‍म हो गई लीग

हालांकि आईसील का पहला सीजन तो अच्‍छा रहा लेकिन, दूसरे सीजन में इसकी चमक फीकी पड़ गई। दर्शकों की रूचि कम होने लगी। इसका असर इस लीग पर भी दिखाई देने लगा। हालांकि इसके पीछे कई वजहें थीं।

पहली और सबसे बड़ी वजह ये थी कि इसको अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी आईसीसी ने इसको मान्‍यता नहीं दी थी। वहीं भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानि बीसीसीआई ने भी इसको मान्यता देने से मना कर दिया।

इतना ही नहीं बीसीसीआई ने इस लीग के आयोजन पर भी रोक लगा दी। साथ ही इसमें खेलने वाले खिलाड़ियों को भी बैन कर दिया। इसके बाद दूसरे देशों ने भी अपने खिलाड़ियों को इस लीग में खेलने से मना कर दिया। बांग्लादेश ने भी बीसीसीआई के नक्शे कदम पर चलते हुए इस इस लीग में भाग लेने वाले अपने सभी खिलाड़ियों को बैन कर दिया।

लीग से करार खत्म करने के बाद खिलाड़ियों की हुई बहाली

इस लीग में खेलने वाले खिलाड़ियों ने अपने करार खत्म कर लिए। साथ ही अपने देश के क्रिकेट बोर्ड और आईसीसी से अपील की कि उनके बैन को समाप्त किया जाए। तब जाकर उनकी बहाली हुई।

आईपीएल का खुल गया रास्ता

आईसीएल बैन जरूर हुआ लेकिन इसकी लोकप्रियता के चर्चे लगातार होते रहे। उसके बाद बीसीसीआई ने आईसीएल की तर्ज पर ही इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल की शुरुआत की। साल 2008 में इसकी नींव पड़ी।

यहां आईपीएल की फोटो रहेगी

जिसमें सबसे पहले आठ टीमों चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स, डेक्‍कन चार्जर्स (अब सनराइजर्स हैदराबाद), कोलकाता नाइट राइडर्स, मुंबई इंडियंस, दिल्‍ली डेयर डेविल्‍स (अब दिल्‍ली कैपिटल), रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और राजस्थान रॉयल्स ने हिस्‍सा लिया। पहला आईपीएल टूर्नामेंट की सबसे कमजोर आंकी जा रही राजस्‍थान रॉयल्‍स ने जीता। इस साल आईपीएल का 14वां सीजन खेला जा रहा है।

UP: 24 घंटे में मिले 20,510 नए केस, पंचायत चुनाव स्‍थगित करने की मांग अफवाह

Previous article

संविधान निर्माता डॉ. अंबेडकर के प्रेरक विचार

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured