September 28, 2022 11:58 pm
featured यूपी

जब कल्याण सिंह ने कहा कि राममंदिर के लिए सैकड़ों सत्ता को ठोकर मार सकता हूँ।

सत्ता को ठोकर मार सकता हूँ।

Brij Nandan

लखनऊ। श्रीराम जन्मभूमि आंदोलन के योद्धा, धर्म के लिए सत्ता का त्याग करने वाले उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का शनिवार को निधन हो गया। 06 दिसम्बर 1992 में जब अयोध्या में लाखों कारसेवक कारसेवा के लिए मौजूद थे। उस समय कल्याण सिंह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे।

06 दिसम्बर 1992 को दोपहर लगभग 01 बजे जब तत्कालीन केंद्र सरकार के गृहमंत्री शंकरराव चव्हाण ने कल्याण सिंह को फोन कर कहा कि मेरे पास यह सूचना है कि कार सेवक गुम्बद पर चढ़ गए हैं, आपके पास क्या सूचना है? इस पर कल्याण सिंह ने तपाक से कहा मेरे पास एक कदम इसके आगे की सूचना है कि कारसेवकों ने गुम्बद को तोड़ना भी शुरू कर दिया है।
कल्याण सिंह ने केन्द्रीय गृहमंत्री शंकरराव चव्हाण से स्पष्ट कहा कि मैं कारसेवकों पर गोली नहीं चलाऊँगा। लेकिन हाँ, गोली चलाने के अलावा जो भी काम हालात को नियंत्रण में लाने के लिए किया जा सकता है वो सारे प्रबंध हम कर रहे हैं।”

कल्याण सिंह ने कहा क्या मैं गोली चला देता? छः बजे की मीटिंग में मैंने स्पष्ट किया कि गोली नहीं चलाऊँगा, गोली नहीं चलाऊँगा, गोली नहीं चलाऊँगा। कोर्ट में केस करना है तो मेरे खिलाफ करो। जाँच आयोग बिठाना है तो मेरे खिलाफ बिठाओ। किसी को सजा देनी है तो मुझे दो। ऐसी निर्भीकता किसी नेता में देखने को शायद ही मिले।

उधर विवादित ढ़ांचा जैसे ही गिरा कल्याण सिंह ने मुख्यमंत्री पद से तुरन्त इस्तीफा दे दिया। इसके बाद कल्याण सिंह ने कहा कि इसका मुझे कोई पछतावा नहीं है। ये सरकार राम मंदिर के नाम पर बनी थी और उसका उद्देश्य पूरा हुआ। उन्होंने कहा था राम मंदिर के लिए एक क्या सैकड़ों सत्ता को ठोकर मार सकता हूँ। केंद्र सरकार कभी भी मुझे गिरफ्तार करवा सकती है, क्योंकि मैं ही हूँ, जिसने अपनी पार्टी के बड़े उद्देश्य को पूरा किया है। जांच आयोग बिठाना है तो मेरे खिलाफ बिठाओ किसी को सजा देनी है तो मुझे दो ”ये शब्द ढांचा विध्वंस के बाद कल्याण सिंह ने कहा था।

Related posts

कोरोना के बीच चीन को कुत्ता भाया, चीन कुत्ता काट के खाया..

Mamta Gautam

बीते 5 दिनों में बढ़ गई कोरोना संक्रमित की संख्या

sushil kumar

उत्तराखंड के विकास में नाबार्ड बनेगा सहयोगी, नाबार्ड के चैयरमैन ने मुख्यमंत्री को दिया आश्वासन

Samar Khan