featured उत्तराखंड

उत्तराखंड में चक्रवाती तूफान ‘यास’ का कितना खतरा ? जानिए वैज्ञानिकों का अनुमान

भारतीय क्षेत्र में ही बार-बार आते हैं चक्रवाती तूफान! वैज्ञानिकों ने बताया कारण

कुछ दिनों पहले ही चक्रवाती तूफान ताऊते देश के कई राज्यों को तबाही का मंजर दिखा कर गया है। वहीं कोरोना काल से लोग पहले ही परेशान हैं। अब एक और नई मुसीबत चक्रवाती तूफान ‘यास’ लोगों के लिए चिंता का विषय बनी हुई है। कई राज्यों में मौसम विभाग ने तूफान की संभावना को लेकर अपडेट किया है। वहीं उत्तराखंड के लिए भी अलर्ट जारी किया गया है।

राज्य में ‘यास’ का असर

चक्रवाती तूफान ‘यास’ के ओडिशा, पश्चिम बंगाल के तटवर्ती इलाकों से टकराने की चेतावनी जारी की गई है। जिस वजह आसपास के प्रदेशों में असर हो सकता है। हालांकि उत्तराखंड के लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। यहां ‘यास’ का असर होने की उतनी संभावना नहीं है। लेकिन पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के चलते यहां कुमाऊं के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश के आसार बन रहे हैं।

हल्की बारिश-बर्फबारी के आसार

उत्तराखंड में मौसम की बात करें तो पिछले कुछ दिनों में गर्मी बढ़ गई है। रोजाना तेज धूप निकल रही है,और तापमान बढ़ रहा है। मौसम विभाग के अनुसार अगले तीन दिन और तापमान बढ़ेगा। जिसके बाद इसमें गिरावट होने की संभावना है।

मौसम विभाग ने साफ किया कि उत्तराखंड में यास तूफान के प्रभाव की संभावना नहीं है। उन्होंने ताजा पश्चिमी विक्षोभ के बुधवार तक हिमालय से टकराने की बात जरूर कही। जिससे पिथौरागढ़, चंपावत और नैनीताल में कहीं-कहीं हल्की बारिश और बर्फबारी होने के आसार हैं। इसके अलावा अन्य जिलों में आसमान साफ रहने की उम्मीद है।

Related posts

उत्तराखंड में इन्वेस्टर समिट भी प्रधानमंत्री का जुमला-कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष

mahesh yadav

पर्यावरण बढ़ाने को बच्चों ने किया पौधरोपण

Arun Prakash

हर मुश्किलों में अफ्रीका के साथ है भारत: प्रणब मुखर्जी

bharatkhabar